Thursday, October 28, 2021
Homeउत्तराखण्ड‘पढ़ो दून बढ़ो दून’ अभियान के अन्तर्गत देहरादून की 11 ग्रामपंचायतें पूर्ण...

‘पढ़ो दून बढ़ो दून’ अभियान के अन्तर्गत देहरादून की 11 ग्रामपंचायतें पूर्ण साक्षर हुईं

देहरादून: ‘‘सम्पूर्ण साक्षरता एवं हर घर नल’’ की परिकल्पनाओं को साकार करने के उद्देश्य से जिला कार्यालय ऋषिपर्णा सभागार में जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में शिक्षा, बाल विकास, ग्राम प्रधान, स्वयंसेवी संगठनों, सस्ता गल्ला विक्रेताओं के साथ विभिन्न समाजिक संस्थाओं आसरा एवं बचपन बचाओ अभियान के पदाधिकारियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक सम्पन्न हुई।

इस कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने उपस्थित सभी पदाधिकारियों को राज्यस्थापना दिवस की शुभकामनाएं देते हुए उनके द्वारा सम्पूर्ण साक्षरता के अन्तर्गत दिए गए योगदान की प्रशंसा करते हुए कहा कि आगामी 26 जनवरी 2021 तक सम्पूर्ण साक्षरता के तहत् जनपद को अग्रणी बनाने में अपना योगदान दें तथा भविष्य की कार्ययोजना को मूर्तरूप दिए जाने हेतु प्रस्ताव भी बनाएं। उन्होनें कहा कि साक्षरता का दीपक जलाने में आगंनबाड़ी स्वयंसेवी संगठनों एवं शिक्षा विभाग द्वारा जिला प्रशासन को दिए गए सहयोग की प्रशंसा की।

उन्होंने बताया कि ‘‘पढो दून बढो दून’’ अभियान के अन्तर्गत वर्तमान में जनपद के 11 ग्राम पंचायतें पूर्ण साक्षर हो गये है, जिनमें विकासखण्ड कालसी के ग्राम पंचायत गास्की ग्राम प्रधान दीपा, बागी ग्राम प्रधान प्रतिमा, लाच्छा ग्राम प्रधान जयपाल सिंह एवं विशोई पूजा तथा विकासखण्ड सहसपुर के ग्राम पंचायत दुधई के ग्राम प्रधान धीरज कुमार, तिलवाड़ी की ग्राम प्रधान पूर्णिमा नेगी, घंघोड़ा दुर्गा राई, गजियावाला विनिता शर्मा, चन्द्रोटी की प्रधान सीता कुमारी तथा ग्राम पंचायत पुरूकुल के ग्राम प्रधान राधे श्याम जुयाल, विकासखण्ड चकराता का ग्राम भूपऊ की प्रधान शामिल हैं। सतत् निगरानी के तहत् चिन्हित लगभग 25 हजार अशिक्षितों को साक्षर बनाने का कार्य प्रगति पर है।

बैठक में जानकारी देते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद को अग्रणी बनाए रखने के लिए जिला प्रशासन ने दो लक्ष्य निर्धारित किए है, जिनमें सम्पूर्ण साक्षरता एवं हर घर नल शामिल है। जल जीवन मिशन के तहत् 01 सितम्बर 2020 तक 30 प्रतिशत् की उपलब्धि प्राप्त की गई थी, जो बढकर अब 9 नवम्बर तक 86 प्रतिशत् की उपलब्धि प्राप्त की गई है फलस्वरूप प्रदेश में देहरादून जनपद योजना अन्तर्गत प्रथम पायदान पर बना हुआ है, जिसके लिए ग्राम प्रधानों एवं जल संस्थान एवं जल निगम द्वारा सराहनीय कार्य किया गया। कार्यक्रम में जल निगम एवं जल संस्थान द्वारा जल जीवन मिशन के अन्तर्गत उत्तराखण्ड पेयजल निगम मसूरी, उत्तराखण्ड जल संस्थान मसूरी डिवीजन एवं उत्तराखण्ड जल संस्थान अनुरक्षण डिवीजन के अधिकारियों के साथ ही ग्राम प्रधानों को उत्कृष्ट कार्य करने पर प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में ग्राम प्रधानों एवं स्वंयसेवी संगठनों के पदाधिकारियों ने भी अपने सुझाव एवं उनके द्वारा चलाए जा रहे कार्यों के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, मुख्य शिक्षा अधिकारी आशारानी पैन्यूली, जिला महाप्रबन्धक उद्योग केन्द्र शिखर सक्सेना, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक वाई.एस चैधरी,  जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक राजेन्द्र रावत, जिला पूर्ति अधिकारी जसंवत कण्डारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास अखिलेश मिश्रा समेत स्वयंसेवी संगठनों, ग्राम प्रधानों के अलावा सस्ता गल्ला के विके्रता एवं आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्तियां उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments