Thursday, October 28, 2021
Homeउत्तराखण्डसीएम के आदेश के बाद, वीआइपी मूवमेंट के दौरान वाहनों को नहीं...

सीएम के आदेश के बाद, वीआइपी मूवमेंट के दौरान वाहनों को नहीं करना पड़ेगा चौराहों पर अधिक इंतजा़र, दस मिनट की समय सीमा तय

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा कुछ दिन पूर्व सूबे के डीजीपी को दिये गये आदेश पर संज्ञान लेते हुए अब वीआइपी मूवमेंट के दौरान यातायात रोकने का अधिकतम समय निश्चित कर दिया गया है। इसकी जानकारी एसएसपी जन्मेजय खंडूरी ने गुरुवार को विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ आयोजित गोष्ठी में दी है। एसएसपी ने कहा कि वीआइपी व वीवीआइपी मूवमेंट के दौरान यातायात को किसी भी दशा में दस मिनट से अधिक समय के लिए नहीं रोका जाएगा। इसके लिए यातायात को रोकने के लिए स्मार्ट सिटी कंट्रोल रूम के माध्यम से ब्लिंकर लाइट का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके साथ ही एसएसपी ने निर्देश दिया कि विभिन्न चौराहों पर यातायात ड्यूटी पर तैनात कार्मिक किसी भी दशा में ट्रैफिक लाइट का मैनुअली संचालन नहीं करेंगे।

एसएसपी ने कहा कि पूर्व में पुलिस अधीक्षक यातायात को निर्देशित किया गया था कि वह सभी संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित कर सभी चौराहों पर लगी ट्रैफिक लाइटों में सामंजस्य रखते हुए यातायात का सुचारू संचालन कराएंगे। इस आदेश के अनुपालन में विभिन्न चौराहों पर लगी 49 ट्रैफिक लाइट में से 33 में आपसी सामंजस्य स्थापित करते हुए यातायात का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि एक सप्ताह के अंदर सभी चौराहों पर लगी ट्रैफिक लाइट में आपसी सामंजस्य स्थापित कर यातायात का संचालन किया जाएगा।

एसएसपी ने कहा कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत विभिन्न चौराहों पर आम जनमानस की सहायता के लिए लगाए गए पैनिक बटन को जल्द से जल्द शुरू किया जाएगा। आपात स्थिति में इन बटन का उपयोग पर तत्काल सहायता प्राप्त की जा सकेगी। जिन चौराहों पर ट्रैफिक लाइट के कम ऊंचाई पर लगे होने के कारण वाहन चालकों को कठिनाई का सामना करना पड़ता है, वहां ट्रैफिक लाइट की ऊंचाई को बढ़ाया जाएगा। जिससे हर वाहन चालक को लाइट की स्थिति की जानकारी हो सके।

इसके अलावा गोष्ठी में एसएसपी ने स्मार्ट सिटी के पदाधिकारियों को बताया कि रात साढ़े 10 बजे से सुबह छह बजे तक यातायात संचालन के लिए ट्रैफिक लाइट को ब्लिंकर मोड पर चलाया जाएगा। इस मौके पर नगर निगम, एमडीडीए, पीडब्ल्यूडी, नेशनल हाईवे व स्मार्ट सिटी के अधिकारी मौजूद रहे।

कहा कि शहर के अंदर जिन स्थानों पर नेशनल हाईवे और स्मार्ट सिटी के निर्माण कार्य चल रहे हैं, उन स्थानों पर अधिक से अधिक कार्य रात में करवाए जाएं, जिससे दोपहर में यातायात व्यवस्था पर पड़ने वाले दबाव को कम किया जा सके। उन्होंने संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि विभिन्न चौराहों पर लगी खराब ट्रैफिक लाइट को हटाने की प्रक्रिया जल्द शुरू की जाए।

एसएसपी ने कहा कि शहर में सभी चौराहों पर जेब्रा क्रासिंग बनेगी और यातायात चिह्न संबंधी बोर्ड लगाए जाएंगे। ऐसे चौराहों को पीडब्ल्यूडी की ओर से चिह्नित किया जा रहा है। अधिक यातायात दबाव वाले मार्गों पर नो ओवरटेक के साइन बोर्ड लगाए जाएंगे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments