दून के नशा मुक्ति केंद्र में नाबालिग लड़कियों से दुष्कर्म करता था संचालक पुलिस ने वॉर्डन को किया गिरफ्तार

0
20

-लडकियों के नशा मुक्ति केन्द्र से फरार होने पर हुआ खुलासा

देहरादून: राजधानी देहरादून के एक नशा मुक्ति केंद्र में नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म और मारपीट का मामला सामने आया है। पीड़ितों के बयान के आधार पर नशा मुक्ति संचालक विद्या दत्त रतूड़ी और वार्डन विभा सिंह के खिलाफ धारा 376 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है और वॉर्डन को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में आरोपी नशा मुक्ति केंद्र संचालक फरार चल रहा है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है।

बीते 5 अगस्त, 2021 की शाम 7 बजे क्लेमेंनटाउन क्षेत्र स्थित एक नशा मुक्ति केंद्र से चार नाबालिग लड़कियां फरार हो गई थीं। इस मामले में क्लेमेंनटाउन थाना पुलिस की टीम ने चारों लड़कियों को शुक्रवार रात कोतवाली क्षेत्र त्यागी रोड के होटल से पकड़ लिया और थाने लेकर पहुंची। थोड़ी देर बाद उनके परिजनों को भी बुलाया गया। पुलिस के मुताबिक लड़कियों ने बयान दिया है कि नशा मुक्ति केंद्र का संचालक विद्या दत्त रतूड़ी उनके साथ लगातार बलात्कार और मारपीट करता था।

इस मामले में सीओ सदर अनुज कुमार ने बताया कि पीड़ितों के बयान के आधार पर नशा मुक्ति केंद्र संचालक और वॉर्डन के खिलाफ धारा 376 के तहत मुकदमा दर्ज किया है और वॉर्डन विभा सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। नशा मुक्ति केंद्र संचालक विद्या दत्त रतूड़ी फरार चल रहा है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है। अनुज कुमार के मुताबिक जनपद के चलने वाले नशा मुक्ति केंद्र बिना नियमावली के संचालित हो रहे हैं। ऐसे में लगातार इस तरह की शिकायतों के मद्देनजर पुलिस के विशेष अभियान के तहत इनकी कार्यशैली का सत्यापन किया जाएगा।

-नशा मुक्ति केंद्र का पहला मामला नहीं

क्लेमेंनटाउन क्षेत्र में स्थित नशा मुक्ति केंद्र में इस तरह की घटनाओं का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी देहरादून के राजपुर रोड सहित कई नशा मुक्ति केंद्र में नशा पीड़ित लोगों के साथ मारपीट और फरार होने की घटनाएं सामने आती रही हैं

-बिना नियमावली के चल रहे नशा मुक्ति केन्द्र

उत्तराखंड में संचालित होने वाले नशा मुक्ति केंद्र की कोई नियमावली नहीं है। इसी का फायदा उठाकर लगातार नशा मुक्ति केंद्र मनमाने तरीके से ड्रग्स पीड़ित लोगों के परिवार से उपचार के नाम पर मोटी रकम वसूल करते हैं और पीड़ित युवक-युवतियों से मारपीट और कई तरह के गंभीर कृत्य कर रहे हैं।