मुख्यमंत्री धामी ने किया “सूर्य नमस्कार देवभूमि परंपरा का अद्भुत उपहार” विषय पर बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग

0
8

-सूर्य नमस्कार के अभ्यास से विभिन्न आसनो से मन और आत्मा होती है सबल: सीएम धामी

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बतौर मुख्य अतिथि “सूर्य नमस्कार देवभूमि परंपरा का अद्भुत उपहार” विषय पर वेबिनार कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। नवयोग सेवा समिति आयुष मंत्रालय भारत सरकार एवं उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के द्वारा संयुक्त आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री धामी ने सूर्य नमस्कार भी किया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि शास्त्रों के अनुसार सूर्य देव की उपासना करने से व्यक्ति का शरीर निरोगी रहता है और घर में सुख.शांति का वास बना रहता है। हम सूर्य नमस्कार के माध्यम से सूर्य उपासना कर निरोगी रह सकते हैं। सूर्य नमस्कार के अभ्यास से विभिन्न आसनो से मन और आत्मा सबल होते हैं। योग करने का मकसद आत्मज्ञान की प्राप्ति तथा सभी प्रकार की शारीरिक परेशानियों को दूर करना है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं को चुस्त.दुरुस्त रखने के लिए ध्यान और योग का सहारा लेते हैं। उनका सबसे पसंदीदा आसन सूर्य नमस्कार है। सूर्य नमस्कार के फायदे बताने के लिए प्रधानमंत्री ने एनिमेटेड योग की सीरिज भी शुरू की है। जिसमें वे सूर्य नमस्कार करते हुए दिखाई देते हैं।

इसके अलावा मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा योग के साथ ही खेलों को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके लिए अनेक निर्णय लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्स कॉलेज, रायपुर को अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय बनाने का प्रयास किया जाएगा। प्रदेश में आठ वर्ष से चौदह वर्ष तक की आयु के 50.50 बालक बालिकाओं को उनकी खेल प्रतिभा के अनुसार चिन्हित कर उन्हें प्रति वर्ष मुख्यमंत्री खिलाड़ी उन्नयन छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। साथ ही सीएम ने खिलाड़ियों का दैनिक भत्ता बढ़ाने की बात कही।

महिला खिलाड़ियों के खेल कौशल विकास को लेकर सीएम ने कहा कि जनपद उधमसिंह नगर में महिला स्पोर्ट्स कॉलेज स्थापित किया जाएगा। वहीं कहा कि नेशनल गेम्स में प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ियों को उत्तराखंड राज्य परिवहन निगम की बसों में निशुल्क यात्रा सुविधा प्रदान की जाएगी।

महाविद्यालयों व व्यवसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु मुख्यमंत्री ने कहा कि खिलाड़ियों को 5 प्रतिशत का उत्कृष्ट खिलाड़ी खेल कोटा प्रवेश के लिए दिया जाएगा।

सीएम ने कहा कि खेलो इण्डिया योजना के अन्तर्गत खेलो इण्डिया स्टेट लेवल सेंटर एवं स्पोर्टस साइंस सेंटर का देहरादून में निर्माण किया जाएगा। वहीं उत्तराखण्ड के सभी 13 जनपदों में न्यूनतम एक स्पोर्टस सेंटर स्थापित किया जायेगा।

इस अवसर पर वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वालों में अंतरराष्ट्रीय राम कथा वाचक अतुल कृष्ण भारद्वाज, लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रमेश कुमार पाण्डेय. उत्तराखण्ड मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. ओम प्रकाश नेगी, प्रो. महेश प्रसाद सिलोड़ी. डा. भानु जोशी, योगी मोहन भण्डारी, डा. विक्रम सिंह, नवयोग सूर्यादय सेवा समिति के संरक्षक डा. देवी दत्त जोशी एवं डा. नवदीप जोशी शमिल थे।