spot_img
spot_img
Homeउत्तराखण्डमुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र की विधानसभा सीट पहुंचे दिल्ली के शिक्षा मंत्री

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र की विधानसभा सीट पहुंचे दिल्ली के शिक्षा मंत्री

-

देहरादून: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के विधानसभा क्षेत्र डोईवाला पहुंचे. उन्होंने यहां जीवन वाला राजकीय प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया।

दिल्ली के शिक्षा मत्री का भी पदभार संभाल रहे सिसोदिया ने कहा कि उत्तराखंड में विद्यालयों के हाल बदहाल हैं। अगर खुद मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र के विद्यालय की स्थिति खराब है तो बाकी प्रदेश के स्कूलों के हाल समझे जा सकते हैं।

दरअसल मनीष सिसोदिया ने उत्तराखंड सरकार को चुनौती दी थी कि वो उनके साथ बहस करें. जब मदन कौशिक बहस को नहीं पहुंचे तो उसके बाद सिसोदिया सीएम त्रिवेंद्र के विधानसभा क्षेत्र डोईवाला जा पहुंचे. यहां उन्होंने सरकार को जमकर घेरा।

सिसोदिया उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के विधानसभा क्षेत्र डोईवाला के लिए निकले. यहां प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि 2022 के चुनाव में आम आदमी पार्टी प्रदेश की जनता का समर्थन लेकर चुनावी मैदान में उतरेगी।

मनीष सिसोदिया ने वहां पर पहुंचकर देखा कि कैसे स्कूल की हालत जर्जर है। मनीष सिसोदिया को कार्यकर्ताओं ने स्कूल की दीवारों, खिड़कियों और टॉयलेट का दृश्य दिखाया। इसके बाद मनीष सिसोदिया ने सरकार पर यह आरोप लगाया कि सरकार जानबूझकर सरकारी स्कूलों को खत्म कर रही है। ताकि प्राइवेट स्कूलों को फायदा पहुंचाया जाए।

मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह बड़ी हैरानी की बात है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की विधानसभा सीट में ही स्कूलों का यह हाल है तो भला और जगहों का क्या हाल होगा। मनीष सिसोदिया अपने तमाम बयानों और खुले मंच से बार-बार यह कह रहे हैं कि उत्तराखंड की शिक्षा व्यवस्था और स्वास्थ्य व्यवस्था पटरी पर नहीं है।

लिहाजा इस वजह से आम जनता को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मनीष सिसोदिया ने आज देहरादून में पत्रकारों से वार्ता करते हुए यह भी कहा कि अगर दिल्ली में महिलाएं बसों में मुफ्त में सफर कर सकती हैं तो उत्तराखंड में क्यों नहीं कर सकती हैं।

मनीष सिसोदिया ने डोईवाला में पहुंचकर भी कहा कि अगर राज्य की जनता उन्हें मौका देती है तो दिल्ली की तर्ज पर ही उत्तराखंड के तमाम स्कूलों की व्यवस्था की जाएगी।

उधर मनीष सिसोदिया के डोईवाला पहुंचते ही डोईवाला क्षेत्र के जीवन वाला प्रधान पति भी सामने आए. प्रधान पति गुरजीत सिंह का कहना है कि दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया यहां पर सिर्फ और सिर्फ राजनीति करने आए थे और कुछ नहीं. लिहाजा अगर वह यहां पर व्यवस्थाओं को देखने आए थे तो उन्हें मुख्यमंत्री द्वारा बनाई गई सड़क और दूसरी योजनाओं को भी देखना चाहिए था।

प्रधान पति ने एक पत्र भी सार्वजनिक किया है जो 28 नवंबर 2020 का है जिसमें शिक्षा विभाग द्वारा इस स्कूल की मरम्मत के लिए 4.15 लाख रुपए स्वीकृत किए जा चुके हैं।

LATEST POSTS

मुख्य सचिव ने की केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा, राज्य स्तरीय नार्को को ऑर्डिनेशन सेंटर के साथ भी की बैठक

देहरादून: मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय में केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश...

केंद्र सरकार को तत्काल युवा और राष्ट्र विरोधी अग्निपथ योजना को वापस लेना चाहिए : हरीश रावत

देहरादून: बुधवार को केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में सर्वदलीय विरोध जताया गया। पूर्व सीएम हरीश रावत के नेतृत्व में कई दलों...

प्रदेश में जल्द ही घर बैठे एफआईआर दर्ज कराने की सुविधा कराई जाएगी उपल्बध

देहरादून: जल्द ही प्रदेशवासियों के लिए घर बैठे एफआईआर दर्ज करने की सुविधा उपल्बध कराई जाएगी । वाहन चोरी और गुुमशुदा समान के मुकदमों से...

मुख्यमंत्री धामी ने राज्य में आपदा प्रबंधन को लेकर की समीक्षा बैठक. बोले अगले तीन माह संवेदनशील, अलर्ट रहें अधिकारी

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को सचिवालय में आपदा प्रबंधन की समीक्षा कीI इस दौरान सीएम ने अधिकारियों को आपदा से संबंधित...

Follow us

1,200FansLike
1,033FollowersFollow
340SubscribersSubscribe