spot_img
spot_img
Homeउत्तराखण्डमुख्य सचिव ने की केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा, राज्य स्तरीय नार्को...

मुख्य सचिव ने की केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा, राज्य स्तरीय नार्को को ऑर्डिनेशन सेंटर के साथ भी की बैठक

-

देहरादून: मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय में केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि केदारनाथ में चल रहे सभी कार्य सुचारू रूप से चलते रहें, इसके लिए आवश्यक सामग्री और स्किल्ड-अनस्किल्ड लेबर की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इसके बाद मुख्य सचिव ने सचिवालय में ही राज्य स्तरीय नार्को कोऑर्डिनेशन सेंटर (NCORD) की भी बैठक ली। इस दौरान उन्होंने बच्चों को नशे से बचाव को लेकर आम जागरूकता अभियान चलाए जाने के साथ ही स्कूलों में पेरेंट्स टीचर्स मीटिंग्स आयोजित कर जन जागरूकता फैलाने के निर्देश दिएI

मुख्य सचिव ने केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा करने के दौरान कहा कि निर्माण सामग्री पहुंचाने के लिए फुल प्रूफ प्लान तैयार किया जाए, ताकि किसी छोटी से छोटी सामग्री की कमी से कोई कार्य बाधित न हो। उन्होंने कहा कि निर्माण सामग्री के ट्रांसपोर्टेशन के लिए घोड़े-खच्चरों आदि की कमी नहीं हो, इसके प्रयास किए जाएं। चारधाम यात्रा में यात्रियों की संख्या कम होने से बहुत से घोड़े खच्चर के संचालकों को निर्माण सामग्री के ढुलान में लगाए जाने हेतु प्रयास किए जाएं।

मुख्य सचिव ने आगे कहा कि स्किल्ड लेबर के साथ अनस्किल्ड लेबर को लगाकर स्किल्ड करने के प्रयास किए जाएं। उन्होंने कार्यों को निर्धारित समय सीमा में पूर्ण करने हेतु कार्यों में तेजी लाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने निर्माण सामग्री और ट्रांसपोर्टेशन की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लेबर को रहने खाने की समस्या न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए, साथ ही उनके बिलों का समय से भुगतान किया जाए। इस अवसर पर सचिव दिलीप जावलकर सहित सम्बन्धित विभागों के उच्चाधिकारी एवं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग भी उपस्थित थे।

कोऑर्डिनेशन सेंटर सेंटर (NCORD) की बैठक में मुख्य सचिव ने कहा कि गरीब बच्चों के लिए नशा मुक्ति हेतु विशेष प्रयास किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे नशामुक्ति केंद्रों की जानकारी आमजन तक पहुंचाई जाए, ताकि आमजन विशेषकर गरीब लोग नशामुक्ति केंद्रों की जानकारी के अभाव में इधर उधर न भटकें, सरकारी योजनाओं का लाभ ले सकें। उन्होंने कहा कि स्कूलों में पेरेंट्स टीचर्स मीटिंग्स आयोजित कर जन जागरूकता फैलाई जाए। उन्होंने नशामुक्ति हेतु लगातार जागरूकता अभियान चलाए जाने के भी निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने सीज्ड ड्रग्स के निष्पादन हेतु लीगल मैकेनिज्म विकसित करने की बात भी कही। कहा कि एंटी ड्रग समितियों की लगातार बैठकें आयोजित की जाएं। जिला स्तरीय बैठकें अगले 15 दिनों में आयोजित कर ली जाएं। उन्होंने सभी स्टेकहोल्डर विभागों द्वारा अपने नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाने हेतु भी निर्देशित किया।

मुख्य सचिव ने जेलों में कैद 25 वर्ष से कम उम्र के युवाओं को अलग बैरकों में रखे जाने हेतु व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए। कहा कि इससे युवाओं को अपराध की दिशा में भटकने से बचाया जा सकेगा साथ ही उनके लिए कौशल विकास प्रशिक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए ताकि ऐसे युवा कौशल प्रशिक्षण लेकर अपने भविष्य को सुधार सकें।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, डीजीपी अशोक कुमार, प्रमुख सचिव एल फैनई एवं अपर सचिव गृह रिद्धिम अग्रवाल सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के उच्चाधिकारी उपस्थित थे।

LATEST POSTS

उत्तराखंड में जारी है कोरोना का कहर, 24 घंटे में 177 मामले आए सामने

देहरादून: उत्तराखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 177 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 396 संक्रमित मरीज स्वस्थ हो कर अपने घर चले...

आतंकी गतिविधियों के इनपुट मिलने पर एलआईयू ने मेरठ समेत कई जनपदों में जारी किया अलर्ट

देहरादून: आतंकी गतिविधियों के इनपुट मिलने के बाद से एलआईयू और मेरठ पुलिस ने पश्चिमी यूपी के मेरठ समेत कई जनपदों में अलर्ट जारी कर...

बहुत लोगों का फोन आ रहा है, 2024 आने दीजिए…देख लेंगे: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

देहरादून: 2024 को लेकर चल रही अटकलों पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुलकर बात की हैं। उन्होंने कहा, मेरे मन में ऐसा कोई विचार नहीं है।...

प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर कसा तंज, केंद्रीय मंत्री ने किया लाइक

देहरादून: शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ट्विटर के माध्यम से तंज कसा हैं| खास बात यह रही की उनके इस ट्वीट...

Follow us

1,200FansLike
1,033FollowersFollow
340SubscribersSubscribe