जुम्मा गांव के आपदा पीड़ितों से मिले सीएम धामी, प्रभावितों को दी सहायता राशि

0
35

-सात लोगों की मलबे में दबने से हो गई मौत
-रेस्क्यू अभियान चलाकर सभी शव किए बरामद

पिथौरागढ़:  सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को पिथौरागढ़ जिले के आपदा प्रभावित क्षेत्र धारचूला का दौरा किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने आपदा प्रभावित गांव जुम्मा, तोक जामुनी, तोक सिराओडार का हवाई सर्वेक्षण किया।

मुख्यमंत्री ने एलागाड़ स्थित एसएसबी के हेलीपैड के साथ ही धारचूला में भी आपदा प्रभावितों से मुलाकात की। इस दौरान आपदा प्रभावितों ने मुख्यमंत्री को अपनी पीड़ा बताई और उनसे मदद की गुहार लगाई है।पिथौरागढ़ जिले के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा प्रभावितों को हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने जुम्मा की घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार आपदा प्रभावितों को राहत पहुंचाने के साथ ही क्षेत्र में बंद पड़ी सभी सड़कों को जल्द से जल्द खोलने के लिए प्रयासरत है।

उन्होंने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता आपदा प्रभावितों तक खाद्यान्न और दवाई पहुंचाने की है। सीएम धामी ने आपदा प्रभावितों को मानकों के अनुसार राहत राशि के चेक भी वितरित किए। सीएम धामी ने कहा कि राज्य सरकार आपदा प्रभावितों की हर संभव मदद करेगी।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में कनेक्टिविटी की समस्या है, जिसे बेहतर करने के लिए केंद्र सरकार के साथ मिलकर कार्य किया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ क्षेत्रीय सांसद अजय टम्टा भी मौजूद रहे।

-जुम्मा गांव में बादल फटने से मची भारी तबाही

बता दें कि धारचूला के जुम्मा गांव में 30 अगस्त को बादल फटने से 7 लोगों की मलबे में दबने से मौत हो गई है, जबकि 7 मकान भी जमींदोज हो गए हैं। जुम्मा गांव के जामुनी और सिरौउड़यार तोक के सभी आपदा प्रभावितों को सरकारी भवनों और नजदीक के गांव में शिफ्ट कराया जा रहा है, साथ ही चिकित्सा टीम घटना क्षेत्र में पहुंच गई है। राहत एवं बचाव कार्य जारी हैं।

एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, एसएसबी और प्रशासन के साथ ही स्थानीय लोग भी रेस्क्यू में मदद कर रहे हैं। इस घटना में मलबे में दबे 7 लोगों में से 3 बच्चियों समेत 5 लोगों के शव मलबे से बरामद कर लिए गए हैं।