spot_img
spot_img
Homeउत्तराखण्डकोरोना की नई गाइडलाइन जारी

कोरोना की नई गाइडलाइन जारी

-

मसूरी आने वाले 40 फीसदी पर्यटकों ने की बुकिंग कैंसिल

मसूरी:  उत्तराखंड में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। वहीं, जिला प्रशासन ने भी नई गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना शुरू कर दिया है। बाहरी राज्यों से आने वाले सभी पर्यटकों की बॉर्डर पर कोरोना जांच करायी जा रही है। पर्यटकों और यात्रियों की नेगेटिव रिपोर्ट आने पर ही प्रदेश में प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं, कोरोना संक्रमित पाये जाने पर लोगों को वापस लौटाया जा रहा है।

कोरोना को लेकर जारी नई गाइडलाइन की वजह से प्रदेश में पर्यटकों की आमद में गिरावट देखी जा रही है। पहाड़ों की रानी मसूरी में भी इन दिनों पर्यटकों की संख्या में कमी आई है। मसूरी के होटलों में हुई एडवांस बुकिंग में से करीब 30 से 40 प्रतिशत पर्यटकों ने बुकिंग कैंसिल कर दी है। जिससे होटल संचालकों को आर्थिक रूप से नुकसान हो रहा है।

वहीं, इसका सीधा असर मसूरी के अन्य व्यवसायों पर भी देखने को मिल रहा है।मसूरी होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएन माथुर ने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर जारी नई गाइडलाइन के बाद पर्यटन एक बार फिर से प्रभावित होने लगा है। मसूरी में बुकिंग कैंसिल हो रही है, जिससे होटल स्वामियों के साथ अन्य व्यवसाय को आर्थिक नुकसान हो रहा है। मसूरी होटल एसोसिएशन के सचिव संजय अग्रवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार को सख्त कदम उठाने ही होंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण एक बार फिर से तेजी से फैलने लगा है। ऐसे में सरकार को जान भी बचानी है और जहान भी।

संजय अग्रवाल ने कहा कि अगर कोरोना संक्रमण प्रदेश में फैला तो उसका सीधा असर आमजन पर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा उठाये जा रहे सख्त कदमों से पर्यटन व्यवसाय प्रभावित होगा, लेकिन कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका गया तो लोगों की जान बचेगी। उन्होंने कहा कि मसूरी में दिल्ली और पंजाब से बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं, ऐसे में दोनों राज्यों में कोरोना एक बार फिर तेजी से फैल रहा है। मैं सरकार के बिना कोरोना टेस्ट के उत्तराखंड में बाहरी राज्यों के किसी भी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक लगाये जाने के फैसले का स्वागत करता हूं। सभी लोगों को सरकार का सहयोग करना चाहिए। सभी लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए।

ये है नई गाइडलाइन
बाहरी राज्यों के पर्यटकों की बॉर्डर पर गहन जांच
कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही उत्तराखंड में प्रवेश
कोरोना संक्रमित को वापस भेजा जा रहा है

LATEST POSTS

मुख्य सचिव ने की केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा, राज्य स्तरीय नार्को को ऑर्डिनेशन सेंटर के साथ भी की बैठक

देहरादून: मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय में केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश...

केंद्र सरकार को तत्काल युवा और राष्ट्र विरोधी अग्निपथ योजना को वापस लेना चाहिए : हरीश रावत

देहरादून: बुधवार को केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में सर्वदलीय विरोध जताया गया। पूर्व सीएम हरीश रावत के नेतृत्व में कई दलों...

प्रदेश में जल्द ही घर बैठे एफआईआर दर्ज कराने की सुविधा कराई जाएगी उपल्बध

देहरादून: जल्द ही प्रदेशवासियों के लिए घर बैठे एफआईआर दर्ज करने की सुविधा उपल्बध कराई जाएगी । वाहन चोरी और गुुमशुदा समान के मुकदमों से...

मुख्यमंत्री धामी ने राज्य में आपदा प्रबंधन को लेकर की समीक्षा बैठक. बोले अगले तीन माह संवेदनशील, अलर्ट रहें अधिकारी

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को सचिवालय में आपदा प्रबंधन की समीक्षा कीI इस दौरान सीएम ने अधिकारियों को आपदा से संबंधित...

Follow us

1,200FansLike
1,033FollowersFollow
340SubscribersSubscribe