बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण सुशीला तिवारी अस्पताल में आपरेशन बंद

0
121

-कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए लिया गया निर्णय

-इमरजेंसी मामलों में ही की जाएगी सर्जरी  

-मरीजों की संख्या कम होने पर शुरू होगी सर्जरी 

हल्द्वानी:   कुमाऊं मंडल के सबसे बड़े हॉस्पिटल सुशीला तिवारी अस्पताल में  सोमवार से सभी प्रकार के ऑपरेशन बंद कर दिए गये हैं।

सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज/हॉस्पिटल के प्राचार्य चंद्र प्रकाश भैसोड़ा ने बताया कि हॉस्पिटल में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के चलते यह फैसला लिया गया है।

प्राचार्य ने कहा कि इस समय सुशीला तिवारी हॉस्पिटल में 78 कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती हैं। इनमें 15 की हालत गंभीर बनी हुई है।

इसके अलावा रोजाना 10 से 15 संक्रमित मरीज आ रहे हैं। इसे देखते हुए सभी विभागों में होने वाले ऑपरेशन को बंद करने के निर्णय लिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए 157 बेड कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए आरक्षित कर दिए गए हैं।

साथ ही आज से सर्जरी विभाग, न्यूरो सर्जरी, ईएनटी और आर्थोपेडिक सहित अन्य विभागों की सर्जरी अगले आदेश तक बंद कर दी गई हैं। केवल इमरजेंसी मामलों में ही सर्जरी सेवा की जाएगी।

उन्होंने बताया कि कोरोना के बढ़ते मरीजों के कारण हॉस्पिटल की व्यवस्था न बिगड़े उसी को ध्यान में रखते हुए ये निर्णय लिया गया है।

मरीजों की संख्या कम होने पर सर्जरी फिर से शुरू कर दी जाएगी। कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए हॉस्पिटल में सभी आवश्यक तैयारी कर ली हैं।

उत्तराखंड में एक बार फिर कोरोना बेकाबू होता जा रहा है। ऐसे में हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है।

इन परिस्थितियों में अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।