Tuesday, October 19, 2021
Homeउत्तराखण्डगढ़वाल आयुक्त ने किया ऋषिकेश के यात्रा प्रशासन संगठन कार्यालय का औचक...

गढ़वाल आयुक्त ने किया ऋषिकेश के यात्रा प्रशासन संगठन कार्यालय का औचक निरीक्षणः ब्यवस्थाओं का लिया जायजा

देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट से बन रहे ई पास के सापेक्ष निर्धारित यात्रियों को चारों धामों में दर्शन की ब्यवस्था को नेशनल इंफोर्मेटिक सेंटर एनआईसी को वेबसाइट अपडेट करने के दिये निर्देश। ऋषिकेश में पार्किंग हेतु चंद्रभागा नदी के किनारे खाली क्षेत्र को चिह्नित करने हेतु संबंधित विभाग को शासन को प्रस्ताव उपलब्ध कराने को कहा। चारधाम यात्रा टर्मिनल में यात्री सहायता डेस्क, कोविड अवेयरनेस काउंटर, यात्री परिहन सहायता डेस्क, चिकित्सा सहायता डेस्क, पंजीकरण संबंधित हेल्प डेस्क, आपदा सहायता डेस्क को संक्रिय करने के निर्देश दिए। कहा कि शासन द्वारा जारी एसओपी के अनुरूप चल रही है चारधाम यात्रा। कोरोना बचाव मानकों का पालन जरूरी बताया।

ऋषिकेशः आयुक्त गढ़वाल रविनाथ रमन ने शनिवार को चारधाम यात्रा के मुख्य पड़ाव ऋषिकेश पहुंच कर यात्रा प्रशासन संगठन के कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। साथ ही आयुक्त ने ब्यवस्थाओं का जायजा भी लिया। वहीं उन्होंने परिवहन, स्वास्थ्य, पेयजल, स्वच्छता ब्यवस्था यात्रा ब्यवस्थाओं को परखने के बाद तीर्थयात्रियों से बातचीत भी की। उन्होंने यात्रियों से कोरोना गाईड लाईन का पालन कर समुचित पंजीकरण के पश्चात यात्रा शुरू करने की भी अपील की। इस दौरान यात्रा प्रशासन संगठन के विशेष कार्याधिकारी ए.के. श्रीवास्तव ने हेल्प डेस्कों के विषय में जानकारी दी।

देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ने बताया कि गढ़वाल आयुक्त ने औचक निरीक्षण के बाद यात्रा प्रशासन संगठन कार्यालय के अधिकारियों को निर्देश दिये कि यात्री सहायता डेस्क, ई पास संबंधित सहायता, फर्स्ट एड चिकित्सा. स्वास्थ्य, स्वच्छ पेयजलापूर्ति, परिवहन संबंधित जानकारी, मौसम पूर्वानुमान, कोविड अवेयरनेस संबंधित हेल्प डेस्कों, पुलिस प्रशासन द्वारा तीर्थ यात्रियों को सहायता मार्गदर्शन करने में सक्रिय भूमिका निभाएं। वहीं हेमकुंड यात्रा पर जानेवाले संगतों को समुचित सहायता हेतु भी निर्देश दिये।

आयुक्त ने यात्रा मार्ग पर जाम की समस्या के निराकरण हेतु सुझाव भी मांगे । वाहन पार्किंग के लिए चंद्रभागा नदी के खाली क्षेत्र के उपयोग हेतु संबंधित विभाग से शासन को प्रस्ताव उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने अपेक्षा की, कि चारधाम यात्रा के शुभारंभ के केंद्र योगनगरी ऋषिकेश में देश विदेश से चारधाम हेतु रवाना होनेवाले यात्रियों को समुचित सहायता उपलब्ध कराई जायेगी।

बताया कि बदरीनाथ धाम, केदारनाथ धाम, गंगोत्री, यमुनोत्री धाम हेतु ई .पास के पंजीकरण में देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट में आ रही दिक्कतों को दूर किया जा रहा है। इसके लिए एनआईसी को साफ्टवेयर में सुधार हेतु कहा गया है।

बोर्ड ने जादकारी दी कि उच्च न्यायालय एवं शासन द्वारा जारी एसओपी के क्रम में ई पास के सापेक्ष पूरे यात्री चारधाम दर्शन कर सकें इसके लिए शासन स्तर पर त्वरित गति से समाधान का कार्य चल रहा है।

उल्लेखनीय है कि बदरीनाथ हेतु 1000; एक हजार, केदारनाथ हेतु 800; आठ सौ, गंगोत्री धाम हेतु 600; छ सौ, यमुनोत्री धाम हेतु 400; चार सौ, तीर्थयात्री देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट से ई पास बनाकर प्रतिदिन दर्शन के लिए पहुंच सकते हैं। बताया कि उत्तराखंड से बाहर के प्रदेशों के तीर्थयात्रियों को देहरादून स्मार्ट सिटी पोर्टल में भी पंजीकरण अनिवार्य है।

इस दौरान अपर आयुक्त गढ़वाल नरेंद्र सिंह क्वीरियाल, नगर निगम आयुक्त गिरीश गुणवंत उपजिलाधिकारी, डा. अपूर्वा पांडेय, यात्रा प्रशासन संगठन के विशेष कार्याधिकारी ए.के. श्रीवास्तव, सीएमएस डा. विजयेश भारद्वाज, क्षेत्राधिकारी पुलिस डीसी ढोडियाल, थाना अध्यक्ष महेश जोशी, एआरटीओ अरविंद पाण्डेय, एआरटीओ पंकज श्रीवास्तव जल संस्थान के अधिशासी अभियंता अनिल नेगी, पीडब्ल्यूडी अभियंता आरसी कैंतुरा, संयुक्त रोटेशन अध्यक्ष मनोज ध्यानी, परिवहन कंपनियों के पदाधिकारीगण, जन प्रतिनिधि तथा मीडिया प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments