एक मार्च से होगा कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण का ट्रायल 

0
36

देहरादून : कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए अब वैक्सीन लगवाने के लिए बुजुर्गों की बारी आ गई है। तीसरे चरण में 60 साल से अधिक आयु के बुजुर्गों और 45 से 59 आयु के किसी बीमारी से ग्रसित लोगों कोरोना वैक्सीन लगवाई जाएगी।

प्रदेश में एक मार्च से कुछ बूथों पर ट्रायल के तौर पर तीसरा चरण शुरू किया जाएगा। चार मार्च को प्रदेश भर में तीसरे चरण के लिए टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया जाएगा। इसके बाद सात मार्च से सभी चयनित बूथों पर वैक्सीन लगाई जाएगी।

केंद्र सरकार की ओर से तीसरे चरण के टीकाकरण के लिए वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये प्रशिक्षण दिया जा रहा है। केंद्र के दिशानिर्देशों के अनुसार तीसरे चरण में 60 साल से अधिक आयु के बुजुर्गों और 45 से 59 आयु वर्ग के उन लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। जो पहले से किसी बीमारी से ग्रसित हैं। इसके लिए केंद्र ने अलग से साफ्टवेयर तैयार किया है।

तीसरे चरण में पात्र लोगों का वैक्सीन लगवाने के लिए मौके पर पंजीकरण किया जाएगा। इसके लिए उन्हें ऐसी आईडी साथ में लानी होगी। जिसमें जन्म तिथि लिखी हो। आधार कार्ड के साथ ही मतदाता पहचान पत्र या अन्य आईडी से वैक्सीन लगाई जाएगी।

स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश की कुल आबादी के आधार पर 60 साल से अधिक आयु और 45 से 59 आयु वर्ग के लोगों का अनुमानित संख्या का आकलन किया है। इस वर्ग के लोगों की संख्या प्रदेश में 20 लाख से अधिक हो सकती है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक डॉ. सरोज नैथानी का कहना है कि तीसरे चरण के कोरोना टीकाकरण के लिए केंद्र की ओर से साफ्टवेयर का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। एक मार्च को प्रदेश में तीसरे चरण का कुछ बूथ पर ट्रायल किया जाएगा।

इसके बाद चार मार्च को पूर्वाभ्यास करने के निर्देश केंद्र की ओर से दिए गए। सात मार्च से सभी चयनित बूथों पर वैक्सीन लगवाने की तैयारी चल रही है।

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.