राज्यमंत्री भंडारी ने किया बीएडीपी विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण

0
53

उत्तरकाशी:  भारत – चीन बार्डर से सटे भटवाड़ी ब्लाक के गांवो में बीएडीपी के विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करने पहुंचे सीमांत क्षेत्र कार्यक्रम अनुश्रवण समिति परिषद के उपाध्यक्ष दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री जगवीर सिंह भंडारी ने सुदूरवर्ती गांवों में जाकर विकास कार्यों का जायजा लिया और अधिकारियों को दिशा-निर्देश भी दिए।

सीमावर्ती गांवों के लिए केन्द्र सरकार बीएडीपी कार्यक्रम के तहत आधारभूत सुविधाएं मुहैया कराने के लिए अलग से धन आवंटन करती है। जिसकी निगरानी के लिए राज्य सरकार ने अलग अनुश्रवण परिषद का गठन किया है।

राज्य के नौ सीमावर्ती ब्लाकों में बीएडीपी कार्यक्रम के तहत आधारभूत विकास कार्यों में बजट खर्च किया जाता है । इस योजना में बार्डर पर सेना के कैंपों में भी डेवलेपमेंट प्रोग्राम चलाये जाते हैं।

राज्य सरकार के परिषद उपाध्यक्ष दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री भंडारी ने सुखी झाला मुखबा धराली व अन्य कई गांवों के साथ सेना के वेश कैंप हर्षिल व नेलंग आदि स्थानों पर जाकर विकास कार्यों का जायजा लिया ।

उन्होंने इन विकास कार्यों की समीक्षा जिलाधिकारी से की और आगामी योजनाओं को अलग-अलग विभागों से न कराकर ब्लाक के माध्यम से ही करवाने की बात कही। इस दौरान उन्होंने नेताला में उद्यान विभाग के हाईटेक पादप संबर्धन प्रयोगशाला हर्षिल में झील निर्माण इंटर साइंस लैब मिलन केन्द्र धराली में हैलीपैड व पेयजल योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण कर निर्माण कार्यों की बारीकियां परखी।

हर्षिल में कार्यदाई संस्था वन विभाग द्वारा झील निर्माण के कार्य से वै खासे नाराज हुये और सीघ्र ही कार्य को पूरा करने के निर्देश दिए गए।उनके साथ जिला पंचायत सदस्य चंदन पंवार ब्लाक प्रमुख बिनीता रावत मंडल धीरज अध्यक्ष सहित कई अन्य जनप्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

तत्पश्चात उन्होंने भटवाड़ी व उत्तरकाशी में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ भी बैठक कर विकास कार्यों की जानकारी ली जिसमें वरिष्ठ जीएमबिएन उत्तरकाशी के अध्यक्ष लोकेंद्र विष्ट जिलाध्यक्ष रमेश चैहान महामंत्री सतेंद्र राणा जिलामंत्री पवन नौटियाल जगमोहन रावत आदि वरिष्ठ नेता उपस्थित रहे।