अपने ग्रीन एनर्जी फुटप्रिंट का एयरटेल ने किया विस्तार

0
65

देहरादून:  भारत का प्रमुख डिजिटल संचार समाधान प्रदाता भारती एयरटेल अपने ग्रीन एनर्जी फुटप्रिंट को तेजी से बढ़ाने के मिशन पर है।

इस मिशन के तहत, एयरटेल ने 14 एमडब्ल्यूपी का एक कैप्टिव सोलर पावर प्लांट शुरू किया है। यह प्लांट उत्तर प्रदेश में इसके कोर और एज डाटा सेंटर्स की ऊर्जा से संबंधित जरूरतों को पूरा करेगा।

तिलहर (शाहजहांपुर) की फैसिलिटी उन दो सोलर प्लांट्स में पहली है, जिन्हें एयरटेल द्वारा एएमपी एनर्जी के साथ भागीदारी में स्थापित किया जा रहा है।

बेगमपुर में दूसरा प्लांट अगली तिमाही में चालू होने की उम्मीद है। इससे अपना कार्बन फुटप्रिंट कम करने की एयरटेल की पहलों को बहुत फायदा होगा।

एयरटेल ने ग्रीन एनर्जी पर आधारित समाधानों के लिये अपनी प्रतिबद्धता के हिस्से  के तौर पर एएमपी सोलर इवॉल्यूाशन में 26 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी।

डिजिटल इकोसिस्टाम में डाटा सेंटर्स महत्वीपूर्ण भूमिका निभाते हैं और उन्हीं बिजली की बहुत जरूरत होती है। ‘नेस्ट्रा बाई एयरटेल’ अभी पूरे भारत तें 10 बड़े और 120 एज डाटा सेंटर्स चला रहा है।

इसका लक्ष्य वित्ती य वर्ष 2022 के दौरान इसका मकसद बिजली की अपनी 50 प्रतिशत जरूरत को रिन्यू्एबल एनर्जी के स्रोतों से पूरा करना है और कार्बन फुटप्रिंट कम करने की एयरटेल की प्रतिबद्धता में योगदान देना है।

नेस्ट्रा डाटा के सीईओ राजेश तापड़िया ने कहा, ‘’एयरटेल एक जिम्मेदार कॉर्पोरेट है और इसलिये ग्रीन एनर्जी उसका शीर्ष एजेंडा है।

स्थायित्व’ की पहलों पर कार्यान्वायन के मामले में सबसे आगे रहने पर हमें गर्व है। हम कई मध्यस्थताओं के माध्यम से अपना कार्बन फुटप्रिंट कम करने की अपनी प्रतिबद्धता को तेजी प्रदान करना जारी रखेंगे।‘’

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.