श्रीलंका में फंसे भारतीयों को वापस लाने की तैयारी, आईएनएस जलाश्व बनेगा 700 लोगों का संकटमोचक

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कोच्चि
Updated Wed, 20 May 2020 05:53 PM IST

कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर में लागू लॉकडाउन की वजह से कई भारतीय नागरिक विदेशों में फंसे हुए हैं। इन सभी लोगों को भारत वापस लाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से वंदे भारत मिशन चलाया गया है। इस बीच रक्षा सूत्रों ने बुधवार को बताया कि ‘ऑपरेशन समुद्र सेतु’ मिशन के तीसरे चरण के तहत, भारतीय नौसेना अगले महीने की शुरुआत में पड़ोसी देश श्रीलंका में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाएगी।सूत्रों ने कहा कि भारतीय नौसेना का जहाज आईएनएस जलाश्व ‘ऑपरेशन समुद्र सेतु’ के तहत द्वीप देश में फंसे करीब 700 भारतीय नागरिकों को वापस भारत लेकर आएगा। रक्षा सूत्रों के मुताबिक भारतीय नौसेना का जहाज आईएनएस जलाश्व 1 जून को कोलंबो से अपनी यात्रा शुरू करेगा और 2 जून को तमिलनाडु के तूतीकोरिन पहुंचेगा।इससे पहले भारतीय नौसेना ने मालदीव में फंसे लगभग 1,500 भारतीय नागरिकों को ‘ऑपरेशन समुद्र सेतु’ के तहत दो चरणों में वापस लाने का काम किया था। इस ऑपेशन के तहत आईएनएस जलाश्व और आईएनएस मगर से 10 मई, 12 मई और 17 मई को यहां फंसे भारतीयों को वापस भारत लाया गया था।

कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर में लागू लॉकडाउन की वजह से कई भारतीय नागरिक विदेशों में फंसे हुए हैं। इन सभी लोगों को भारत वापस लाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से वंदे भारत मिशन चलाया गया है। इस बीच रक्षा सूत्रों ने बुधवार को बताया कि ‘ऑपरेशन समुद्र सेतु’ मिशन के तीसरे चरण के तहत, भारतीय नौसेना अगले महीने की शुरुआत में पड़ोसी देश श्रीलंका में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाएगी।

सूत्रों ने कहा कि भारतीय नौसेना का जहाज आईएनएस जलाश्व ‘ऑपरेशन समुद्र सेतु’ के तहत द्वीप देश में फंसे करीब 700 भारतीय नागरिकों को वापस भारत लेकर आएगा। रक्षा सूत्रों के मुताबिक भारतीय नौसेना का जहाज आईएनएस जलाश्व 1 जून को कोलंबो से अपनी यात्रा शुरू करेगा और 2 जून को तमिलनाडु के तूतीकोरिन पहुंचेगा।

इससे पहले भारतीय नौसेना ने मालदीव में फंसे लगभग 1,500 भारतीय नागरिकों को ‘ऑपरेशन समुद्र सेतु’ के तहत दो चरणों में वापस लाने का काम किया था। इस ऑपेशन के तहत आईएनएस जलाश्व और आईएनएस मगर से 10 मई, 12 मई और 17 मई को यहां फंसे भारतीयों को वापस भारत लाया गया था।

Source link

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.