शराब नहीं पिलाने को लेकर पुलिस के सिपाही ने फोड़ा दुकानदार का सिर, डीजीपी के निर्देश के बाद आरोपी सिपाही निलंबित

0
22

देहरादून: शराब की बोतल नहीं देने पर सिपाही और उसके दो साथियों ने दुकानदार का सिर फोड़ दिया। पीड़ित दुकानदार के भाई की तहरीर पर पटेलनगर कोतवाली में आरोपित सिपाही और उसके साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपित सिपाही के एक साथी को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। वहीं डीजीपी के आदेश के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) डा. योगेंद्र सिंह रावत ने घटना को गंभीरता से लेते हुए आरोपित सिपाही को निलंबित कर दिया है।

पुलिस के अनुसार, टर्नर रोड स्थित आसिमा विहार में रहने वाले अमित वर्मा ने तहरीर में बताया कि उनके भाई शरद वर्मा की आइएसबीटी में कंफेक्शनरी की दुकान है। अमित वर्मा का आरोप है कि आइएसबीटी पुलिस चौकी में तैनात सिपाही अमित तोमर अक्सर उनके भाई से शराब मंगवाता था और उसके पैसे नहीं देता था। इसके अलावा उनकी दुकान से सोडा व अन्य खाने.पीने की चीजें भी पैसे दिए बगैर लेता था। बुधवार शाम को सिपाही दो अन्य व्यक्तियों के साथ दुकान पर पहुंचा और शरद से शराब मांगी। शरद ने शराब नहीं होने की बात कही तो वह भड़क गया।

इस पर सिपाही और शरद के बीच विवाद हो गया। इसी दौरान सिपाही और उसके साथियों ने शरद के सिर पर खाली बोतल मार दी। इससे शरद का सिर फट गया। इस घटना के बाद आइएसबीटी चौकी से कुछ पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और लहूलुहान हालत में शरद को चौकी ले आए। यह सूचना शरद के परिचित सुभाष बालियान और संजय राठौर को मिली तो वह चौकी पहुंचे। अमित वर्मा का आरोप है कि वहां चौकी इंचार्ज ने सुभाष और संजय के साथ गलत व्यवहार किया। उन्होंने बताया कि शरद के सिर में कई टांके लगे हैं।

इसके बाद उन्होंने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी )अशोक कुमार से इसकी शिकायत की। डीजीपी के निर्देश पर एसएसपी ने पटेलनगर कोतवाली के प्रभारी प्रदीप राणा को तत्काल मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। इंस्पेक्टर राणा ने बताया कि सिपाही अमित तोमर के साथ उसके परिचित अनुज त्यागी निवासी सिंघल मंडी व एक अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। अनुज को गिरफ्तार कर लिया गया है।