Homeउत्तराखण्डधर्म संसद में नफरती भाषण पर सुप्रीम कोर्ट का दखल, सरकार के...

धर्म संसद में नफरती भाषण पर सुप्रीम कोर्ट का दखल, सरकार के मुंह पर तमाचा: हरीश रावत

-

देहरादून: धर्म संसद में नफरती भाषण मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार और उत्तराखंड सरकार को नोटिस जारी किया है। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के दखल देने के बाद स्पष्ट हो गया है कि राज्य सरकार इस पूरे मामले में नाकाम साबित हुई है। वहीं रावत ने सर्वोच्च न्यायालय के इस दखल को राज्य सरकार के मुंह पर करारा तमाचा बताया।

कहा कि किसी भी स्टेट में कानून व्यवस्था राज्य सरकार का विषय होता है। एफईआर या शिकायत दर्ज कराना एक नागरिक का अधिकार है लेकिन जब उस पर सुनवाई न हो, तो ऐसे मामलों में कोर्ट दखल देती हैं।

उन्होंने कहा कि इस मामले में भी यदि सुप्रीम कोर्ट को दखल देना पड़ा है तो इसका मतलब है कि इसमें कुछ विशेष निकलकर सामने आया है। तभी कोर्ट ने इसे दखल के लायक समझा है। यह सीधे-सीधे राज्य सरकार के मुंह पर एक तमाचा है। इस पूरे मामले में राज्य सरकार बेनकाब हो गई है।

LATEST POSTS

रामकृष्ण भट्ट हो सकते है कर्णप्रयाग सीट से बसपा के प्रत्याशी

कर्णप्रयाग: रामकृष्ण भट्ट कर्णप्रयाग विधानसभा सीट से बसपा के प्रत्याशी हो सकते हैंI कर्णप्रयाग के प्रमुख कारोबारी रामकृष्ण भट्ट पिछले कई समय से बसपा के...

भारत का संविधान दुनिया के लिखित संविधानों में सबसे बड़ा संविधान: मुख्य सचिव

देहरादून: मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय में गणतंत्र दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण कर सचिवालय के सभी अधिकारियों कर्मचारियों को...

प्रदेश की हेट्रिक गर्ल वंदना कटारिया होंगी पद्मश्री से सम्मानित

देहरादून :अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी वंदना कटारिया को अर्जुन अवार्ड के बाद अब भारत सरकार ने मंगलवार को वंदना को पद्मश्री से सम्मानित करने की घोषणा...

जिन्होंने कभी चारधाम के बारे में नहीं सोचा, आज वे दे रहे ‘चार धाम-चार काम’ का नारा: प्रल्हाद जोशी

देहरादून : केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी ने कांग्रेस पर निशाना साधा I मंगलवार को मीडिया से बातचीत के दौरान...

Follow us

1,200FansLike
1,033FollowersFollow
340SubscribersSubscribe