spot_img
spot_img
Homeराज्यपंजाबपंजाब निकाय चुनावों में कांग्रेस को मिली बड़ी जीत, मोहाली सहित आठ...

पंजाब निकाय चुनावों में कांग्रेस को मिली बड़ी जीत, मोहाली सहित आठ नगर निगमों में से सात पर विजय, आठवीं में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में : विपक्ष का सफाया

-

-मोहाली नगर निगम पर भी काॅंग्रेस की जीत:पूर्व मेयर कुलवंत सिंह चुनाव हारे

-प्रदर्शन से उत्साहित कांग्रेस ने की 2022 के लिए कैप्टन अभियान की घोषण

चंढीगड़ /देहरादून:  केंद्र सरकार द्वारा लागू तीन कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ जारी किसान आंदोलन के चलते पंजाब में हुए नगर निकाय चुनावों में कांग्रेस ने बड़ी जीत हासिल की है। कांग्रेस मोहाली सहित आठ नगर निगमों में से सात में विजय के साथ आठवीं नगर निगम में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर कर आई है. जिसे देखते हुए कांग्रेस ने 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कैप्टन अभियान की घोषणा की है।

वहीं शहरी निकाय के चुनावों में विपक्षी दलों का सफाया करते हुए. 109 नगर परिषद व नगर पंचायतों में भी अधिकतर पर जीत हासिल की है।

कांग्रेस ने मोहाली, बठिंडा, होशियारपुर, कपूरथला, अबोहर, बटाला एवं पठानकोट में जबरदस्त जीत दर्ज की है। वहीं मोगा में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है. और बहुमत से सिर्फ छह सीट पीछे है। इस तरह मोगा में किसी भी राजनीतिक दल को बहुमत नहीं मिला है. ऐसे में निर्दलीय उम्मीदवारों का समर्थन महत्वपूर्ण होगा।

नगर निगम मोहाली के दो मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान होने के कारण मतगणना में देरी हुई है. जिसके लिए बृहस्पतिवार को मतगणना हुई, यहाॅं भी 50 में से 37 सीटों पर विजय के साथ काॅंग्रेस ने बड़ी जीत हासिल की है। वहीें पूर्व मेयर कुलवंत सिंह चुनाव हार गए हैं।

प्रदेश के आठ नगर निगमों एवं 109 नगर परिषदों के लिए कराये गये चुनाव में कुल 9,222 उम्मीदवार मैदान में थे। जिसमें विपक्ष को 109 नगर परिषद एवं नगर पंचायतों में अधिकतर सीटों पर हार का सामना करना पड़ा. इस स्तर पर 1,817 वार्ड में से कांग्रेस ने 1,102 वार्ड पर जीत हासिल की है।

यहाॅं सत्तारूढ़ कांग्रेस ने इन चुनावों के लिए 2,037 उम्मीदवार मैदान में उतारे थे . तो अकाली दल ने 1,569, भाजपा ने 1,003, आप ने 1,606 तथा बसपा ने 160 उम्मीदवार मैदान में उतारे थे , वहीें इन चुनावों के लिए 2,832 निर्दलीय उम्मीदवार भी मैदान में थे

पंजाब में स्थानीय निकायों के लिए 14 फरवरी को मतदान कराया गया था. जिसमें 70 प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था।

पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि यह चुनाव परिणाम केंद्र की भाजपा की अगुवाई वाली राजग सरकार के खिलाफ कांग्रेस का मनोबल बढ़ाने वाला है। कांग्रेस की नजर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में जीत पर भी है जो अगले साल की शुरूआत में होने वाला है। साथ ही उन्होंने कहा कि बठिंडा को 53 साल में पहला कांग्रेस का महापौर मिलेगा।

LATEST POSTS

मुख्य सचिव ने की केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा, राज्य स्तरीय नार्को को ऑर्डिनेशन सेंटर के साथ भी की बैठक

देहरादून: मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने बुधवार को सचिवालय में केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश...

केंद्र सरकार को तत्काल युवा और राष्ट्र विरोधी अग्निपथ योजना को वापस लेना चाहिए : हरीश रावत

देहरादून: बुधवार को केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में सर्वदलीय विरोध जताया गया। पूर्व सीएम हरीश रावत के नेतृत्व में कई दलों...

प्रदेश में जल्द ही घर बैठे एफआईआर दर्ज कराने की सुविधा कराई जाएगी उपल्बध

देहरादून: जल्द ही प्रदेशवासियों के लिए घर बैठे एफआईआर दर्ज करने की सुविधा उपल्बध कराई जाएगी । वाहन चोरी और गुुमशुदा समान के मुकदमों से...

मुख्यमंत्री धामी ने राज्य में आपदा प्रबंधन को लेकर की समीक्षा बैठक. बोले अगले तीन माह संवेदनशील, अलर्ट रहें अधिकारी

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को सचिवालय में आपदा प्रबंधन की समीक्षा कीI इस दौरान सीएम ने अधिकारियों को आपदा से संबंधित...

Follow us

1,200FansLike
1,033FollowersFollow
340SubscribersSubscribe