spot_img
spot_img
Homeउत्तराखण्डपशुओं के प्रति कृतज्ञता पूर्ण व्यवहार मानव का परम कर्तव्यः स्वामी चिदानन्द...

पशुओं के प्रति कृतज्ञता पूर्ण व्यवहार मानव का परम कर्तव्यः स्वामी चिदानन्द सरस्वती

-

ऋषिकेश:  21 से 27 फरवरी को दुनिया के कई देश जस्टिस फॉर एनिमल्स वीक के रूप में मनाते हैं ताकि पशुओं के साथ संपत्ति की तरह नहीं बल्कि जीवित प्राणियों की तरह व्यवहार किया जाये। घरेलू स्तर पर, कृषि के रूप में उपयोग किये जाने वाले पशु और वन्य प्राणियों के खिलाफ हो रहे अपराधों को रोकने हेतु जागरूकता बढ़ाने के लिये इस सप्ताह को समर्पित किया गया है।

परमार्थ निकेतन के अध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने जस्टिस फॉर एनिमल्स वीक के अवसर पर कहा कि आये दिन हम पशुओं के साथ हो रही आपराधिक घटनायें, दुर्व्यवहार, क्रूरता को देखते और सुनते हैं इसके लिये एक सुदृढ़ न्याय व्यवस्था के साथ जन जागरूकता भी जरूरी है।

हम पशुओं के साथ क्रूरता और दुरुपयोग सभ्यता के विकास के साथ बढ़ते देख रहे है। हमें अपने बच्चों और युवा पीढ़ी को समझाना होगा कि प्रकृति के साथ सामंजस्य और पशुओं के साथ प्रेमपूर्ण व्यवहार करना नितांत आवश्यक है। मनुष्य अपनी निजी स्वतंत्रता के लिये  कई बार पशुओं के विरुद्ध हिंसा करते हैं और अब यह एक प्रचलन की तरह बढ़ते जा रहा है।

स्वामी जी ने कहा कि पशुओं के विरुद्ध हो रही हिंसा के सबसे वीभत्स रूपों में से एक यह भी है कि मानव जीवन का स्तर सुधारने के लिये जो अनुसंधान किये जाते हैं उनका प्रभाव देखने के लिये पशुओं पर प्रयोग किये जाते हैं जो कि अमानवीय व्यवहार की श्रेणी में आता है।

हमें यह स्वीकार करना पड़ेगा कि मानव की तरह ही पशु और प्रकृति भी इस सृष्टि के अविभाज्य अंग हैं जिनके प्रति कृतज्ञता पूर्ण व्यवहार करना सभी का परम कर्तव्य है क्योंकि मानव सभ्यता के विकास में प्रकृति और पशुओं का भी अहम योगदान रहा है।

पशुओं के प्रति हो रही हिंसा अनैतिकता है और इस पर रोक लगाई जानी चाहिये। स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने कहा कि मानव सभ्यता के विकास के साथ मानव और पशु के बीच के संबंध मित्रवत् थे परन्तु विकास के साथ जैसे-जैसे मानव का स्वार्थ बढ़ते गया पशुओं के विरूद्ध शोषण बढ़ने लगा जो कि आज मानवता के सामने एक नैतिक प्रश्न बनकर खड़ा हो गया है।

हिन्दू धर्म में पशुओं के प्रति सदव्यवहार की प्रेरणा दी गयी है पशुओं के प्रति दया भाव, अहिंसा और संवेदनापूर्ण नितांत आवश्यक है और यही नैतिकपूर्ण व्यवहार भी है। आईये आज जस्टिस फॉर एनिमल्स वीक के अवसर पर एक संकल्प ले कि प्रत्येक प्राणी की स्वतंत्रता का सम्मान करेंगे तथा उनके प्रति नैतिकतापूर्ण व्यवहार करेंगे।

LATEST POSTS

खंड शिक्षा अधिकारी दमयंती रावत पर शासन ने कसा जांच का शिकंजा, वित्तीय अनियमितता का आरोप

देहरादून: शिक्षा विभाग की खंड शिक्षा अधिकारी दमयंती रावत पर शासन ने जांच का शिकंजा कस दिया है। उन पर भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार...

केमिस्ट हत्याकांड मामले में नवनीत राणा ने अमरावती पुलिस पर उठाए सवाल,एनआईए को सौंपी जांच

देहरादून: राजस्थान के उदयपुर में हुए हत्याकांड से करीब हफ्ते भर पहले महाराष्ट्र के अमरावती में भी इसी तरह केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या हुई...

केमिस्ट हत्याकांड में 5 आरोपी गिरफ्तार, नुपुर शर्मा का समर्थक होने के कारण हत्या होने का संदेह

देहरादून: उदयपुर की घटना से पहले महाराष्ट्र में एक हत्याकांड को अंजाम दिया गया था I अमरावती में बीते माह देर रात दुकान बंद कर...

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को मनरेगा की गहराई समझने में बताया असमर्थ, कोरोनाकाल से उभरने में मनरेगा का बताया योगदान

देहरादून: केरल यात्रा के दूसरे दिन भी कांग्रेस नेता राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में मौजूद हैं और विभिन्न कार्यक्रमों में भाग ले रहे...

Follow us

1,200FansLike
1,033FollowersFollow
340SubscribersSubscribe