spot_img
spot_img
Homeउत्तराखण्डसैकड़ों किसानों ने किया राजभवन कूच

सैकड़ों किसानों ने किया राजभवन कूच

-

पुलिस ने हाथीबड़कला चैकी पर रोका
सभा आयोजित कर सरकार पर बरसे किसान
कृषि कानूनों को निरस्त  करने के लिए राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

देहरादून:  नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर संयुक्त किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में किसानों के समर्थन में राजभवन कूच किया। हालांकि प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने न्यू कैंट रोड स्थित हाथीबड़कला चैकी के पास बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया। जिसके बाद प्रदर्शनकारी वहीं सड़क में बैठ गए और वहां एक सभा का आयोजन किया।

इससे पहले किसान मोर्चा के आह्वान पर दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन करने के लिए प्रदर्शनकारी गांधी पार्क के सामने एकत्रित हुए। उसके बाद पैदल मार्च निकालते हुए प्रदर्शनकारी दिलाराम चैक से होते हुए जब न्यू कैंट रोड पहुंचे, तो पुलिस में बैरिकेडिंग लगाकर संयुक्त किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं को वहीं रोक दिया। प्रदर्शनकारियों ने जिला प्रशासन के माध्यम से तीनों कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने को लेकर राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन भी प्रेषित किया है।

डोईवाला के सैड़कों किसान ट्रेक्टर-ट्राली लेकर पहुंचे

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का केंद्र सरकार के साथ टकराव जारी है। किसान लगातार कृषि कानून वापस लेने की मांग पर अड़े हैं। कई दौर की वार्ता के बाद भी किसान सरकार से सहमत नहीं हैं।

इसी कड़ी में डोईवाला के करीब 300 किसानों ने ट्रैक्टर लेकर राजभवन कूच किया। इस दौरान किसानों का पुलिस के साथ टकराव भी हुआ। पुलिस ने किसानों को डोईवाला फ्लाईओवर के नीचे रोकने की कोशिश की।

बता दें, कृषि कानून के विरोध में डोईवाला के सैकड़ों किसान ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर देहरादून राजभवन का घेराव करने के लिए निकले। डोईवाला के लच्छीवाला फ्लाईओवर और टोल टैक्स बैरियर पर भारी संख्या में पुलिस बल और पीएससी ने किसानों को रोकने की कोशिश की।

लच्छीवाला टोल प्लाजा बैरियर पर किसानों और पुलिस के बीच भारी टकराव देखने को मिला। पुलिस ने बैरिकेडिंग और गाड़ियों लगाकर ट्रैक्टरों को रोकने की कोशिश की, लेकिन किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़कर और डिवाइडर हटाकर देहरादून के लिए कूच किया।

किसानों का कहना है कि जब तक तीनों काले कानून वापस नहीं होंगे, किसान चुप चुप नहीं बैठेंगे। इसको लेकर किसान देहरादून के लिए निकल पड़े हैं, जो राजभवन का घेराव करने जा रहे हैं। जानकारी मिली है कि किसानों को हर्रावाला के नजदीक भी रोकने की कोशिश की जा रही है। पुलिस और किसानों के बीच भारी टकराव देखने को मिल रहा है।

मुकदमा दर्ज होने पर बढ़ सकती हैं मुश्किलें

हर्रावाला हाईवे पर किसानों का उग्र रूप देख पुलिस ने कड़ी चेतावनी दी है। देहरादून पुलिस ने किसानों को मुकदमा दर्ज कर सख्ती करने की चेतावनी दी है। इसके साथ ही पुलिस ने कहा है कि जिस भी किसान के ऊपर अगर कानूनी कार्रवाई की गई तो उसके बाद उनके न तो लाइसेंस बन पाएंगे और ना ही पासपोर्ट और नौकरी जैसे विषयों पर कोई आवेदन नहीं कर पायेगा।

रुड़की से भी दून पहुंचे किसान

कृषि कानूनों के विरोध में विभिन्न किसान संगठनों के किसान बड़ी तादाद में मंगलौर गुड़ मंडी में इकठ्ठा हुए और देहरादून के लिए रवाना हुए। इस दौरान भारी पुलिस फोर्स तैनात रही। दरअसल, किसान संगठनों ने आज गवर्नर हाउस घेराव का ऐलान किया था, जिसके तहत बड़ी तादाद में किसान अपनी अपनी गाड़ियों से मंगलौर गुड़ मंडी में पहुंचे। जहां से काफिले के रूप में देहरादून के लिए रवाना हुए।

 

LATEST POSTS

सुप्रीम कोर्ट ने नुपुर शर्मा को कहा अहंकारी और अडियल, देश के लिए बताया खतरा, दिल्ली पुलिस को भी लगाई फटकार

देहरादून: नुपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ दिए गये विवादित टिप्पणी के बाद से देशभर में हंगामा हो गया था I जिसके बाद सुप्रीम...

सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध, शुरुआती दौर में दी जाएगी चेतावनी उसके बाद लगाया जाएगा जुर्माना

देहरादून: आज एक जुलाई से रोजमर्रा के दिनचर्या में इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक का काफी सामान प्रतिबंधित रहेगा। प्लाटिक के इस्तमाल से पर्यावरण को हो...

मुख्य सचिव ने रिक्तियों के अधियाचन को लेकर समस्त विभागों को दिए अहंम निर्देश

देहरादून: मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने गुरुवार को सचिवालय में विभागों द्वारा आयोग को भेजी जाने वाली रिक्तियों के अधियाचन के सम्बन्ध में...

सीएम धामी ने किया ‘हमारो पहाड़’ धारावाहिक के टाइटल सॉग का लोकार्पण

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में सरकार के 100 दिन पूर्ण होने के अवसर पर ‘ सर्वश्रेष्ठ बने...

Follow us

1,200FansLike
1,033FollowersFollow
340SubscribersSubscribe