spot_img
spot_img
Homeउत्तराखण्डगैरसैंण को बनाया ग्रीष्मकालीन राजधानी

गैरसैंण को बनाया ग्रीष्मकालीन राजधानी

-

देहरादून:  गैरसैंण राज्य आंदोलन की मूल भावना थी। गैरसैंण प्रतीक है, समूचे पर्वतीय क्षेत्रों के विकास का। इसी भावना और सोच के साथ मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गैरसैंण-भराड़ीसैंण को उत्तराखण्ड की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाया।

इस वर्ष 4 मार्च को मुख्यमंत्री ने गैरसैंण-भराड़ीसैंण में आयेजित बजट सत्र के दौरान उत्तराखण्डवासियों की भावनाओं का सम्मान करते हुए गैरसैण-भराड़ीसैंण को प्रदेश की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाए जाने की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि गैरसैंण को विश्व की सबसे सुन्दर राजधानी के रूप में विकसित किया जाएगा। गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाए जाने के प्रति मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र की गम्भीरता इसी बात से पता चलती है कि 4 मार्च को घोषणा की गई और 8 जून को बाकायदा अधिसूचना जारी कर दी गई।

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण में नया इतिहास रचा गया। उत्तराखंड के इतिहास में यह पहली बार हुआ, जब स्वतंत्रता दिवस पर किसी मुख्यमंत्री द्वारा गैरसैंण-भराड़ीसैंण में ध्वजारोहण किया गया।

LATEST POSTS

सीएम धामी ने किया ‘हमारो पहाड़’ धारावाहिक के टाइटल सॉग का लोकार्पण

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में सरकार के 100 दिन पूर्ण होने के अवसर पर ‘ सर्वश्रेष्ठ बने...

सीएम धामी ने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत 51 लाभार्थियों को सौंपी चेक व चाबी

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को सरकार के 100 दिन पूर्ण होने पर मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्य सेवक सदन में ग्राम्य विकास विभाग...

महाराष्ट्र में सियासी घमासान के बीच हरीश रावत का आया बयान, बोले सौ-सौ करोड़ में खरीदा भाजपा ने विधायकों को

देहरादून: महाराष्ट्र में चल रहे राजनीतिक घमासान और विधायकों के बागी होने के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा पर बड़ा हमला बोला...

सड़क हादसों में जान गंवाने वालों के परिजनों को उत्तराखंड सरकार देगी दोगुना मुआवजा

देहरादून: प्रदेेश में सड़क हादसों में जान गंवाने वालों के परिजनों को अब उत्तराखंड सरकार दोगुना मुआवजा देगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को...

Follow us

1,200FansLike
1,033FollowersFollow
340SubscribersSubscribe