80 लाख की स्मैक के साथ दो नशा तस्कर गिरफ्तार

0
18

-सहसपुर थाना अध्यक्ष नरेंद्र गहलावत ने की कार्रवाई
-नशे के कारोबार में ट्रक का किया जा रहा था इस्तेमाल
-पुलिस ने बरामद की 150 ग्राम स्मैक

देहरादून:  नशे के विरुद्ध चलाये गए अभियान मे चेकिंग के दौरान सहसपुर पुलिस 150 ग्राम स्मैक (हेरोइन) व 73 सौ रुपये नगद के साथ दो शातिर तस्कर गिरफ्तार किये। पकड़े गए तस्कर पुलिस से बचने के लिए ट्रक का इस्तेमाल तस्करी के लिए कर रहे थे।पुलिस ने एक ट्रक को भी बरामद किया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. योगेंद्र सिंह रावत के निर्देशानुसार वर्तमान में जनपद में मादक पदार्थों की तस्करी एवं बिक्री तथा नशे पर रोकथाम लगाये जाने के लिए चलाये जा रहे अभियान के चलते क्षेत्राधिकारी विकासनगर वीडी उनियाल के पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष थाना सहसपुर नरेंद्र गहलावत ने अवैध मादक पदार्थों की तस्करी एवं बिक्री करने वालों के विरुद्ध तथा नशे की रोकथाम को लेकर थाना स्तर पर अलग अलग पुलिस टीमो को गठित कर अवैध मादक पदार्थों की तस्करी में संलिप्त व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई की।

थाना अध्यक्ष सहसपुर नरेंद्र गहलावत को मुखबिर ने सूचना दी कि एक ट्रक में कुछ लोग अवैध स्मैक (हेरोइन) का कारोबार कर रहे है। जिसके बाद पुलिस ने घेरा बन्दी की ओर चौकिंग के दौरान ट्रक संख्या एलपी एचआर38क्यू 3495 को जब रोका तो उसमें सवार लोग भागने का प्रयास करने लगे। जिसके चलते पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद ट्रक से निकल कर भाग रहे दो तस्करों को मौके से ही धर दबोचा।

पकड़े गए नशे का कारोबार करने वाले अमीर पूत्र जाहिद हसन व गुलशेर पुत्र जाहिद निवासीगन ग्राम माजरी थाना सहसपुर के कब्जे से पुलिस ने तलाशी के दौरान 150 ग्राम स्मैक बरामदगी की। बताया गया है कि पकड़ी गई 150 ग्राम स्मैक की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 80 लाख रुपए की बताई जा रही है। वही पकड़े गए तस्करों के कब्जे से 73 सो रुपए की नगदी एवं नशे के कारोबार में प्रयोग किए जा रहे ट्रक को भी बरामद किया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर योगेंद्र सिंह रावत ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कारोबार करने वाले लोगों को बख्शा नहीं जाएगा और अभियान के दौरान तस्करो के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी।

-तस्करों की प्रॉपर्टी को किया जाएगा सीजः एसएसपी

सहसपुर थाना अध्यक्ष नरेंद्र गहलावत ने अपनी टीम के साथ मिलकर लाखों रुपए की कीमत की अवैध स्मैक की बरामदगी की है। जिसके बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. योगेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पकड़े गए तस्करों की नीची प्रॉपर्टी की भी जांच होगी और उसके बाद प्रॉपर्टी को सीज किया जाएगा। पुलिस नसे नशे का कारोबार करने वाले तस्करो के कारोबार को खंगालने में जुटी है और जल्दी ही उन पर शिकंजा कस दिया जाएगा।

-करोड़ों के अवैध मादक पदार्थों की हुई बरामदगी

नशे के कारोबार पर शिकंजा कसते हुए देहरादून पुलिस ने पिछले 6 महीनों में जहां 319 देहरादून के अलग-अलग थानों में तस्करों के विरुद्ध मुकदमे दर्ज किए हैं। वही करीब 1 किलो 235 ग्राम चरस, स्मैक, अफीम आदि की बरामदगी की है। यही नहीं पुलिस ने पिछले 6 महीनों में नशे के कारोबार पर शिकंजा करते हुए 343 तस्करो को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेजा है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि 1 जनवरी से 30 जुलाई 2021 तक देहरादून पुलिस ने करीब 6 करोड़ 12 लाख 53 हजार रुपये की कीमत की अवैध मादक पदार्थों की बरामदगी की है।