उत्तराखंड: साइबर ठगों ने उड़ए बुजुर्ग के खाते से साड़े पांच लाख रुपये, केवाईसी अपडेट करने के नाम पर लिया झांसे में

0
24

देहरादून:  प्रदेश में साइबर ठगी को लेकर लगातार शिकायतों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। अलग अलग तरकीबों को अपनाकर साइबर ठग भोले भाले लोगों को अपना शिकार बनाकर उनकी जीवन भर की कमाई पर डाका मार रहे हैैं। जिसके चलते गुरुवार को भी रायपुर और नेहरू कालोनी थाने में साइबर ठगी के तीन मुकदमे दर्ज किए गए।

राजधानी के रायपुर थाना पुलिस के अनुसार केशव विहार, तुनवाला निवासी अनुपम कठैत ने प्राथमिकी दर्ज कर बताया कि उनके पिता 74 साल के हैं। बीती दस जुलाई को उनके मोबाइल पर उनके बीएसएनएल का नंबर बंद होने का संदेश आया। उन्होंने संदेश में दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया। जिस शख्स से बात हुई, उसने खुद को बीएसएनएल का कस्टमर केयर अधिकारी बताते हुए केवाईसी अपडेट कराने को कहा। इसके लिए उसने बुजुर्ग को एक लिंक भेजकर उस पर क्लिक करने को कहा। ऐसा करते ही बुजुर्ग के खाते से पांच लाख 61 हजार की रकम निकल गई।

दूसरा मामला नेहरू कालोनी थाना क्षेत्र का है। पुलिस के अनुसार, दीपक महिंद्रा निवासी नेहरू कालोनी ने बताया कि उन्होंने ओएलएक्स पर स्कूटी बेचने का विज्ञापन देखा था। उन्होंने विज्ञापन में दिए नंबर पर फोन किया तो संबंधित व्यक्ति ने एडवांस की मांग की। इसके लिए उसने फोन पे पर एक लिंक भेजा। जिस पर क्लिक करने के बाद दीपक के खाते से दो बार में 60 हजार निकल गए।

वहीं एक अन्य मामले में अजबपुर खुर्द निवासी पवन कुमार ने बताया कि आदित्य दीक्षित नामक व्यक्ति ने खुद को वेबसाइट डेवलपर बताया और कहा कि उसे अमेजॉन कंपनी 80 प्रतिशत छूट पर सामान देती है।

उसने पवन को आइ फोन खरीदने के लिए कहा। पवन ने 13 जुलाई को 12800 और 21 जुलाई को 5000 रुपये आदित्य के बैंक खाते में भेज दिए। आदित्य ने दो दिन में डिलीवरी की बात कही। इसके बाद से आदित्य का फोन स्विच आफ है। उसने दीपक को डिलीवरी ब्वाय साकिद का नंबर दिया था, मगर उससे भी संपर्क नहीं हो रहा।
पुलिस ने दर्ज शिकयतों पर कार्यवाही शुरु कर दी है। वहीं नेहरू कालोनी थाना पुलिस ने आदित्य दीक्षित और साकिद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।