उत्तराखंड:  प्रदेश में बढ़ी चार नगर पंचायतें, 94, हुई सूबे में नगर निकायों की संख्या

0
32

-थलीसैंण, ढंडेरा, लालपुर व गरुड़ को मिलेगा नगर पंचायतों का दर्जा

देहरादून: प्रदेश में लगातार जगह जगह से उठ रही नगर पंचायतों की मंग के साथ नए नगर निकायों के गठन को लेकर चल रही कवायद के बीच शासन ने शुक्रवार को चार नई नगर पंचायतों के गठन की अधिसूचना जारी कर दी है। शासन द्वारा जारी अधिसूचना के बाद अब थलीसैंण, ढंडेरा, लालपुर व गरुड़ को नगर पंचायत का दर्जा मिल गया है। नवगठित नगर पंचायतों के आद अब प्रदेश में नगर निकायों की संख्या बढ़कर 94 हो गई है। इसके साथ ही अनुमान है कि सरकार जल्द ही कुछ और नगर निकायों के गठन का भी एलान कर सकती है।

नगरीय स्वरूप ले चुके ग्रामीण क्षेत्रों को लंबे समय से नगर निकायों का दर्जा देने की मांग उठती आ रही है। इस कड़ी में पूर्व में नौ नगर निकायों के प्रस्ताव विभिन्न जिलों से शासन को उपलब्ध हुए थे। जिसमें कि गढ़वाल मंडल के अंतर्गत थलीसैंण ;पौड़ीद्धए ढंडेरा ;हरिद्वारद्धए लालपुर ;ऊधमसिंह नगरद्ध व गरुड़ ;बागेश्वरद्ध को नगर पंचायत का दर्जा देते हुए इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है।

थलीसैंण नगर पंचायत में ग्राम कैन्यूर व तोक मैरुआ के 531.589 हेक्टेयर क्षेत्र को शामिल किया गया है। यहां की आबादी 2982 है। थलीसैंण तहसील मुख्यालय भी है। इसी तरह हरिद्वार जिले के अंतर्गत रुड़की में ढंडेरा के 23257 आबादी वाले 354.145 हेक्टेयर क्षेत्रफल को नगर पंचायत में शामिल किया गया है।

लालपुर नगर पंचायत में 212.614 हेक्टेयर क्षेत्रफल जिसकी आबादी 3675 है। वहींनगर पंचायत गरुड़ में बयालीसेरा, स्याल्दे, भकुनखोला, गढ़सेर, टानीखेत, नौधर, सिल्ली, फुलवाड़ीगूंठ, दशौनी, गांवों को पूर्ण अथवा आंशिक रूप से शामिल किया गया है। इनकी आबादी 5002 और क्षेत्रफल 245.482 हेक्टेयर है।