उत्तराखंड एक्सक्लूसिव: 500 करोड़ रुपये बाजार से उठाएगी सरकार, आरबीआई की नीलामी में लेगी हिस्सा 

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून

Updated Mon, 14 Sep 2020 12:56 PM IST


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर

कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹365 & To get 20% off, use code: 20OFF

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

उत्तराखंड सरकार ने अब बाजार से 500 करोड़ रुपये उठाने की तैयारी भी कर रही है। प्रदेश सरकार गर्वनमेंट सिक्योरिटी या बांड के जरिये यह पैसा उठाएगी। रिजर्व बैंक की ओर से 15 सितंबर को इसके लिए नीलामी होगी। इस नीलामी में उत्तराखंड सहित 13 राज्य शामिल हो रहे हैं।कोविड संक्रमण के दौर में प्रदेश सरकार की बाजार पर निर्भरता बनी हुई है। जीएसटी प्रतिपूर्ति पर अभी तक स्थिति पूरी तरह से साफ नहीं है, हालांकि राज्य सरकार केंद्र के पहले विकल्प पर स्वीकृति दे चुकी है। इससे पहले प्रदेश सरकार ने अगस्त माह में बाजार से 500 करोड़ रुपये भी उठाए थे। इस हिसाब से राज्य अब तक करीब 1600 करोड़ रुपये का कर्ज ले चुका है। अब राज्य सरकार ने 500 करोड़ रुपये और बाजार से उठाना तय किया है। भारतीय रिजर्व बैंक को इसकी जानकारी दी जा चुकी है। आरबीआई भी 15 सितंबर को इसकी नीलामी की तैयारी कर रहा है। इस नीलामी में उत्तराखंड सहित 13 राज्य शामिल हो रहे हैं।इससे राज्य 12500 करोड़ रुपये बाजार से उठाएंगे। प्रदेश सरकार यह कर्ज दस साल के लिए ले रही है। यह कर्ज भी सरकारी सिक्योरिटी के रूप में है। इससे पहले प्रदेश सरकार ने एसडीएल या स्टेट गर्वनमेंट लोन के रूप में बाजार से 500 करोड़ रुपये उठाए थे। इन सब को मिलाकर देखा जाए तो सरकार पर करीब अब 2100 करोड़ का बोझ हो जाएगा।

सार
आरबीआई की ओर से 15 सितंबर को हो रही नीलामी में लेगी हिस्सा 
उत्तराखंड सहित 13 राज्य शामिल हो रहे हैं नीलामी में

विस्तार

उत्तराखंड सरकार ने अब बाजार से 500 करोड़ रुपये उठाने की तैयारी भी कर रही है। प्रदेश सरकार गर्वनमेंट सिक्योरिटी या बांड के जरिये यह पैसा उठाएगी। रिजर्व बैंक की ओर से 15 सितंबर को इसके लिए नीलामी होगी। इस नीलामी में उत्तराखंड सहित 13 राज्य शामिल हो रहे हैं।

कोविड संक्रमण के दौर में प्रदेश सरकार की बाजार पर निर्भरता बनी हुई है। जीएसटी प्रतिपूर्ति पर अभी तक स्थिति पूरी तरह से साफ नहीं है, हालांकि राज्य सरकार केंद्र के पहले विकल्प पर स्वीकृति दे चुकी है। इससे पहले प्रदेश सरकार ने अगस्त माह में बाजार से 500 करोड़ रुपये भी उठाए थे। इस हिसाब से राज्य अब तक करीब 1600 करोड़ रुपये का कर्ज ले चुका है। 

अब राज्य सरकार ने 500 करोड़ रुपये और बाजार से उठाना तय किया है। भारतीय रिजर्व बैंक को इसकी जानकारी दी जा चुकी है। आरबीआई भी 15 सितंबर को इसकी नीलामी की तैयारी कर रहा है। इस नीलामी में उत्तराखंड सहित 13 राज्य शामिल हो रहे हैं।

इससे राज्य 12500 करोड़ रुपये बाजार से उठाएंगे। प्रदेश सरकार यह कर्ज दस साल के लिए ले रही है। यह कर्ज भी सरकारी सिक्योरिटी के रूप में है। इससे पहले प्रदेश सरकार ने एसडीएल या स्टेट गर्वनमेंट लोन के रूप में बाजार से 500 करोड़ रुपये उठाए थे। इन सब को मिलाकर देखा जाए तो सरकार पर करीब अब 2100 करोड़ का बोझ हो जाएगा।

Source link

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.