कोरोना संक्रमित का निधन,ब्लैक फंगस के भी थे लक्षण

0
37

देहरादून: चैखुटिया के ग्राम पंचायत झुडंगा निवासी डॉक्टर दीपक सिंह के पिता जीवन सिंह का निधन हो गया है. वे कोरोना से संक्रमित थे, उनमें ब्लैक फंगस के लक्षण भी मिले थे. अल्मोड़ा जिले में ब्लैक फंगस का यह पहला मामला है।

इससे पहले कुमाऊं में मंगलवार को ब्लैक फंगस के दो और मरीज मिले हैं। ये दोनों मरीज नैनीताल और सीमांत जिले पिथौरागढ़ में मिले हैं। दोनों जिलों में ब्लैक फंगस के ये पहले मामले में हैं।

इसके साथ ही कुमाऊं में इस बीमारी के अब तक छह मामले मिल चुके हैं। इनमें दो मरीज ऊधमसिंह नगर और एक अल्मोड़ा जिले में मिला है। इधर, हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में भी ब्लैक फंगस का संदिग्ध रोगी भर्ती हुआ है। हालांकि उसमें अभी ब्लैक फंगस की पुष्टि नहीं हुई है।

हल्द्वानी निवासी 59 वर्षीय व्यक्ति को कुछ समय पहले कोरोना हुआ था। उसे सुशीला तिवारीमेडिकल काॅलेज में भर्ती किया गया था। बाद में कृष्णा हास्पिटल में भर्ती कराया गया।

कृष्णा अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. हरभजन सिंह ने बताया कि यह पोस्ट कोविड रोगी है, जो बीते दिनों सिरदर्द, फेशियल पाल्सी, जबड़े और आंखों में परेशानी की शिकायत को लेकर अस्पताल पहुंचा था।

इसके बाद ईएनटी के डॉक्टर, न्यूरो फिजिशियन आदि की टीम ने रोगी की जांच की। डॉ. सिंह ने बताया कि ट्रीटमेंट शुरू करने के साथ सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। इसमें ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है।

डॉ. सिंह ने बताया कि रोगी के इलाज के लिए एंटी फंगल दवा की जरूरत है, जिसकी उपलब्धता में समस्या आ रही है। इसे उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग से अनुरोध किया गया है। रोगी की दोबारा कोरोना जांच भी कराई जा रही है। इसके साथ ही एमआरआई भी कराया जाएगा।

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.