कोरोना अपडेटः दून से भेजे गए सैंपल्स में डबल म्यूटेंट की हुई पुष्टि

0
88

-दो सैंपल में यूके स्ट्रेन और एक सैंपल में अन्य स्ट्रेन की पुष्टि

-डबल म्यूटेंट वेरिएंट का प्रसार तेजी से होता है: विशेषज्ञ 

-डबल म्यूटेंट वेरिएंट संक्रमण से अस्पताल में भर्ती होने जैसी स्थितियां कम:डॉ.सयाना 

देहरादून:  उत्तराखंड में दिन-प्रतिदिन बढ़ते कोरोना संक्रमण मामलों के बीच अब सैंपलों में नए स्टेन से जुड़ी खबर ने स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ा दी है। राजधानी में कोरोना के डबल म्यूटेंट वायरस की पुष्टि हुई है। पिछले महीने तीन सैंपल जांच के लिए एनसीडीसी दिल्ली भेजे गये थे। तीनों सैंपल में डबल म्यूटेंट की पुष्टि हुई है।

वहीं, पहले दो सैंपल में यूके स्ट्रेन और एक सैंपल में अन्य स्ट्रेन की पुष्टि हुई है।ऐसी सूचना मिलने के  बाद अब स्वास्थ्य विभाग की समस्याएं बढ़ गई हैं।

दून मेडिकल कॉलेज की वीआरडीएल लैब के, को-इन्वेस्टिगेटर डॉ. दीपक जुयाल ने बताया कि पिछले महीने 3 सैंपल जांच के लिए दिल्ली एनसीडीसी भेजे गए थे। उसकी रिपोर्ट ई मेल के जरिये प्राप्त हो गयी है।

तीनों सैंपल में से एक में डबल म्यूटेंट वायरस बी.1.617 और दूसरे में यूके स्ट्रेन बी.1.1.7 और एक में अलग तरह के म्यूटेंट की पुष्टि हुई है। ये वायरस, सामान्य वायरस से कहीं ज्यादा खतरनाक हैं। क्योंकि यह वायरस ज्यादा फैलता है.

वहीं, दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना ने बताया कि विशेषज्ञों का मानना है कि डबल म्यूटेंट वेरिएंट का प्रसार तेजी से होता है। जो ज्यादा संक्रामक है. पूरे परिवार को संक्रमित कर सकता है।

डॉ.सयाना ने विशेषज्ञों के हवाले से बताया कि इससे होने वाले संक्रमण के बाद अस्पताल में भर्ती होने जैसी स्थितियां कम पैदा होती हैं। ज्यादातर मरीजों में कोरोना के लक्षण नहीं दिखाई देते. लेकिन इनकी बढ़ती संख्या से स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित होती हैं।

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.