देव डोलियों के कुम्भ स्नान आयोजन में, कोविड नियमों का पालन जरूरीः महाराज

0
65

-सीबीएनएएटी, टीआरवीईएनएटी, आरटीपीसीआर में से कोई एक टेस्ट अनिवार्य

देहरादून:  कोरोना महामारी के चलते चारधाम यात्रा और कुम्भ में आने वाले तीर्थ यात्रियों एवं पर्यटन को सीबीएनएएटी, टीआरवीईएनएटी, आरटीपीसीआर में से किसी एक टेस्ट के आधार पर ही यात्रा की अनुमति होगी।

पर्यटन, संस्कृति,धर्मस्व एवं सिंचाई मंत्री  सतपाल महाराज ने महाकुम्भ और चारधाम यात्रा पर आने वाले पर्यटकों, श्रद्धालुओं और साधु-संतों से अनुरोध किया है कि वह धार्मिक परंपराओं और मर्यादाओं का निर्वाहन करने के लिए देह दूरी, सैनिटाइजर और मास्क का प्रयोग करते हुए कोविड नियमों का पालन अवश्य करें, ताकि हम सब एक दूसरे के सहयोग से चारधाम यात्रा और कुंभ का सफलता पूर्वक संचालन कर सकें।

महाराज ने हरिद्वार महाकुंभ और चारधाम यात्रा पर अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों साधु-संतों और पर्यटकों को कोविड नियमों का पालन करने के साथ-साथ कार्ट्रिज आधारित न्यूक्लिक एसिड एम्प्लीफिकेशन टेस्ट (CBNAAT), रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलीमर्स चेन रिएक्शन टेस्ट (RTPCR) और टीवी डायग्नोसिस टेस्ट (TRUENAT) में से किसी एक टेस्ट को अनिवार्य बताते हुए सभी से वैक्सीनेशन करवाने का अनुरोध किया है।

संस्कृति मंत्री  ने बताया कि हरिद्वार में महाकुंभ पर आयोजित होने वाले देव डोलियों का कुंभ स्नान निर्धारित समय पर कोविड नियमों का पालन करते हुए आयोजित किया जाएगा। इस कार्य के लिए साधु संतों सहित सभी पुलिसकर्मियों और ड्यूटी पर लगे कर्मचारियों को आवश्यक हिदायत दे दी गई है।

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.