Lockdown 4.0: बाहर से आए युवकों के क्वारंटीन की जगह न बदलने पर ग्रामीणों ने प्रधान पति को पीटा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रुड़की
Updated Wed, 27 May 2020 06:20 PM IST

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

रुड़की के लक्सर में बाहर से आए युवकों को दरगाहपुर गांव में क्वारंटीन किए जाने और उनकी जगह बदलकर किसी दूसरी जगह नहीं भेजने से नाराज गांव के दो लोगों ने महिला ग्राम प्रधान के घर पर हमला बोल दिया। आरोपियों ने ग्राम प्रधान के पति के साथ गाली गलौज कर मारपीट कर दी।ग्राम प्रधान की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दरगाहपुर गांव की महिला ग्राम प्रधान फिरदौस ने हाल ही में बाहरी क्षेत्र से आए पांच लोगों को गांव के बाहर स्थित प्राथमिक विद्यालय और बरातघर में क्वारंटीन किया था। इन लोगों में से मंगलवार को एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जानकारी मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम युवक को हरिद्वार अस्पताल ले जाने के लिए पहुंची थी।उस वक्त वहां प्रधान पति मोहम्मद आरिफ भी मौजूद थे। आरोप है कि इसी बीच गांव के राहुल पुत्र संतोष, कपिल पुत्र रामचरण भी वहां पहुंच गए। उन्होंने क्वारंटीन किए गए लोगों को वहां से हटाकर किसी दूसरे स्थान पर भेजे जाने की मांग की। मगर ग्राम प्रधान के पति उन्हें दूसरी जगह से भेजने से इंकार कर दिया।इसके बाद दोनों युवकों ने ग्राम प्रधान के साथ गाली गलौज शुरू कर दी, कुछ देर बाद ही दोनों युवक लाठी डंडों से लैस होकर प्रधान के घर पर चढ़ आए और उनसे मारपीट कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस दो युवकों को कोतवाली ले गई। सीओ राजन सिंह का कहना है कि ग्राम प्रधान की तहरीर पर राहुल और कपिल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
शिक्षकों और अन्य विभागीय कर्मचारियों को मुख्यालय न छोड़ने के आदेश जारी किए गए है। यदि किसी शिक्षक और कर्मचारी को अति आवश्यक कार्य से मुख्यालय छोड़ना है तो इसके लिए विभागीय अधिकारियों से अनुमति लेनी होगी। इस बाबत मुख्य शिक्षाधिकारी ने आदेश जारी किए है।साथ ही शिक्षकों को मोबाइल ऑन रखने के आदेश भी दिए गए हैं। इन दिनों लॉकडाउन के कारण सभी स्कूल और कॉलेज बंद है। लिहाजा अधिकतर शिक्षक और कर्मचारी अपने-अपने घरों पर है। कुछ शिक्षक व कर्मचारी कोरोना ड्यूटी पर हैं। मुख्य शिक्षाधिकारी की ओर से जारी आदेशों में बताया गया है कि कोई भी शिक्षक और कर्मचारी बिना अनुमति के मुख्यालय न छोड़ें।क्योंकि, आगामी महीने में बोर्ड की बची परीक्षाएं और मूल्यांकन का कार्य प्रस्तावित है। यदि किसी शिक्षक या कर्मचारी को मुख्यालय छोड़ना है तो वह अनुमति लेकर जा सकता है। इंटर कॉलेजों के प्रधानाचार्य की अनुमति सीईओ डॉ. आनंद भारद्वाज, प्राथमिक से जूनियर तक के स्कूलों के शिक्षकों व कर्मचारी की अनुमति जिला शिक्षाधिकारी (बेसिक) ब्रह्मपाल सिंह सैनी, हाईस्कूल और इंटर के शिक्षकों की अनुमति खंड शिक्षाधिकारी देंगे। जिला शिक्षाधिकारी (बेसिक) ब्रह्मपाल सिंह सैनी ने इसकी पुष्टि की है

सार
पुलिस ने पीड़ित पक्ष की तहरीर पर दोनों आरोपियों पर दर्ज किया केस

विस्तार
रुड़की के लक्सर में बाहर से आए युवकों को दरगाहपुर गांव में क्वारंटीन किए जाने और उनकी जगह बदलकर किसी दूसरी जगह नहीं भेजने से नाराज गांव के दो लोगों ने महिला ग्राम प्रधान के घर पर हमला बोल दिया। आरोपियों ने ग्राम प्रधान के पति के साथ गाली गलौज कर मारपीट कर दी।

ग्राम प्रधान की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दरगाहपुर गांव की महिला ग्राम प्रधान फिरदौस ने हाल ही में बाहरी क्षेत्र से आए पांच लोगों को गांव के बाहर स्थित प्राथमिक विद्यालय और बरातघर में क्वारंटीन किया था। इन लोगों में से मंगलवार को एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जानकारी मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम युवक को हरिद्वार अस्पताल ले जाने के लिए पहुंची थी।

उस वक्त वहां प्रधान पति मोहम्मद आरिफ भी मौजूद थे। आरोप है कि इसी बीच गांव के राहुल पुत्र संतोष, कपिल पुत्र रामचरण भी वहां पहुंच गए। उन्होंने क्वारंटीन किए गए लोगों को वहां से हटाकर किसी दूसरे स्थान पर भेजे जाने की मांग की। मगर ग्राम प्रधान के पति उन्हें दूसरी जगह से भेजने से इंकार कर दिया।इसके बाद दोनों युवकों ने ग्राम प्रधान के साथ गाली गलौज शुरू कर दी, कुछ देर बाद ही दोनों युवक लाठी डंडों से लैस होकर प्रधान के घर पर चढ़ आए और उनसे मारपीट कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस दो युवकों को कोतवाली ले गई। सीओ राजन सिंह का कहना है कि ग्राम प्रधान की तहरीर पर राहुल और कपिल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

बिना अनुमति मुख्यालय छोड़ा तो होगी कार्रवाई

शिक्षकों और अन्य विभागीय कर्मचारियों को मुख्यालय न छोड़ने के आदेश जारी किए गए है। यदि किसी शिक्षक और कर्मचारी को अति आवश्यक कार्य से मुख्यालय छोड़ना है तो इसके लिए विभागीय अधिकारियों से अनुमति लेनी होगी। इस बाबत मुख्य शिक्षाधिकारी ने आदेश जारी किए है।साथ ही शिक्षकों को मोबाइल ऑन रखने के आदेश भी दिए गए हैं। इन दिनों लॉकडाउन के कारण सभी स्कूल और कॉलेज बंद है। लिहाजा अधिकतर शिक्षक और कर्मचारी अपने-अपने घरों पर है। कुछ शिक्षक व कर्मचारी कोरोना ड्यूटी पर हैं। मुख्य शिक्षाधिकारी की ओर से जारी आदेशों में बताया गया है कि कोई भी शिक्षक और कर्मचारी बिना अनुमति के मुख्यालय न छोड़ें।क्योंकि, आगामी महीने में बोर्ड की बची परीक्षाएं और मूल्यांकन का कार्य प्रस्तावित है। यदि किसी शिक्षक या कर्मचारी को मुख्यालय छोड़ना है तो वह अनुमति लेकर जा सकता है। इंटर कॉलेजों के प्रधानाचार्य की अनुमति सीईओ डॉ. आनंद भारद्वाज, प्राथमिक से जूनियर तक के स्कूलों के शिक्षकों व कर्मचारी की अनुमति जिला शिक्षाधिकारी (बेसिक) ब्रह्मपाल सिंह सैनी, हाईस्कूल और इंटर के शिक्षकों की अनुमति खंड शिक्षाधिकारी देंगे। जिला शिक्षाधिकारी (बेसिक) ब्रह्मपाल सिंह सैनी ने इसकी पुष्टि की है

आगे पढ़ें

बिना अनुमति मुख्यालय छोड़ा तो होगी कार्रवाई

Source link

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.