उत्तराखण्ड में सात माह बाद खुले स्कूल

0
58

देहरादून:  उत्तराखण्ड में आज से सरकारी स्कूल खुल गये हैं। आज पहले दिन दसवीं और बारहवीं के बच्चे स्कूल पहुंचे। कोविडकृ19 की गाइड लाइन का पालन स्कूलों में किया गया। इतने समय बाद स्कूल आने वाले छात्र / छात्राओं में खुशी दिखाई दी। हालांकि प्राईवेट स्कूल कम ही खुले। बताया जा रहा है कि दीपावली के बाद प्राइवेट स्कूल खोले जा सकते हैं।

मार्च माह में कोरोना संक्रमण के कहर के चलते लॉकडाउन हो गया था। जिसके बाद से अक्टूबर तक स्कूल भी बंद रहे। इस दौरान प्राईवेट स्कूलों ने तो बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई करवाई लेकिन सरकारी स्कूल के तमाम ऐसे बच्चे जिनके पास मोबाइल नहीं था या फिर नेटवर्क की समस्या होने के चलते पढ़ाई से वंचित रहे। ऐसे दसवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए बड़ी समस्या खड़ी हो गई थी क्योंकि परीक्षाओं को तो रोका नहीं जा सकता है। तो ऐसे में पढ़ाई नहीं होने से उनका काफी नुकसान हो रहा था।

नवंबर माह में स्कूलों को खोले जाने के सरकार की ओर से आदेश जारी किए गए थे। उसके बावजूद सरकारी स्कूलों के साथ ही चंद प्राइवेट स्कूलों को छोड़कर कहीं भी स्कूल नहीं खुले। सरकारी स्कूलों में बच्चे कम संख्या में स्कूल पहुंचे। प्राइवेट स्कूल संचालकों के अनुसार अभिभावक अभी अपने बच्चों को स्कूल भेजने को तैयार नहीं है जिसके चलते प्राइवेट स्कूलों को नहीं खोला जा रहा है वहीं देहरादून के जीजीआईसी इंटर कॉलेज में आज पहले दिन छात्राओं में इतने महीने बाद स्कूल आने पर खासा उत्साह देखने को मिला।

स्कूल की प्रधानाचार्य ने बताया कि छात्रों को जागरूक करने के साथी अन्य छात्रों को भी स्कूल लाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। स्कूल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ मास्क और सेनेटाइजर का प्रयोग करने को जागरूक किया जा रहा है।

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.