विकास योजनाओं की गति में तेजी लायेंः अजय टम्टा

0
43

अल्मोड़ा: सभी विभाग आपसी सामजंस्य स्थापित कर केन्द्र की विकास योजनाओं की गति में तेजी लायें यह बात आज विकासभवन सभागार में जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की बैठक में सांसद अजय टम्टा ने अध्यक्षता करते हुए कही।

बैठक में उन्होंने कहा कि भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अधिकारियों की कार्य कुशलता की इच्छाशक्ति से ही इस कार्य में सफलता मिल सकती है। बैठक में जनपदस्तीय अधिकारियों व समस्त विकासखण्डों के अधिकारियों ने इस बैठक में प्रतिभाग किया।

सांसद ने जनपद व विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों के साथ केन्द्र पोषित योजनाओं व अन्य मुख्य कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा की।
बैठक में उन्होने जनपद की सड़कों के निर्माण के धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त की और सम्बन्धित अधिकारियों से कहा कि समय सीमा अन्तर्गत लक्ष्य प्राप्त करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जनपद की कई सड़कें वन भूमि हस्तान्तरण के कारण लम्बित है जिस पर ध्यान देने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि वन और लोनिवि विभाग के अधिकारी आपसी समन्वय बनाकर लम्बित मामलों का समाधान करें। सांसद ने कहा कि जनपद के प्राथमिकता वाली सड़कों के वन भूमि के मामलों को यथाशीघ्र निपटाया जाय।

उन्होंने एनएच के अधिकारियों को निर्देश दिये कि कई स्थानों पर सड़कों में गडढे है उन्हें डामरीकण से ठीक कर दें ताकि लोगो को असुविधा न हो। सांसद ने समीक्षा बैठक में मनरेगा के अन्तर्गत प्रवासियों को रोजगार से जोड़ने के लिए ठोस कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये।

इस दौरान उन्हें अवगत कराया गया कि प्रवासियों के रोजगार से जोडने के लिए वर्तमान में कार्य चल रहा है इसके लिए प्रत्येक विकासखण्ड में प्रवासी मित्र बनाये गये है जो प्रवासियों की स्किल मैपिंग के आधार पर उन्हें योजनाओं से लाभान्वित किया जा रहा है।

बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाने के निर्देश दिये। उन्होंने दूरस्थ क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं पर भी ध्यान देने को कहा।

उन्होंने इस दौरान कोविड-19 के टीकाकरण की भी जानकारी प्राप्त की और कहा कि सभी लोगो में बेहतर कार्य अभी तक किया गया है। उन्होंने इस दौरान आयुष्मान गोल्डन कार्ड आदि के बारे में जानकारी ली।

जल जीवन मिशन के अन्तर्गत की गयी प्रगति पर उन्होंने कहा कि भारत सरकार के इस कार्यक्रम का उददेश्य हर घर में नल से जल देने का है जिससे गर्मी के मौसम में पेयजल की समस्या उत्पन्न न होने पाये। इसलिए समय सीमा के अन्तर्गत लक्ष्य की प्राप्ति की जाय।

बैठक में उन्होने कृषि, उद्यान, उरेडा, विद्युत, शिक्षा, स्वजल, बीएसएनएल आदि विभागों की भी समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। इस अवसर पर जनपदस्तरीय अधिकारियों द्वारा सड़क सुरक्षा की शपथ भी ली गयी।

इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पाण्डे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज भटट, वनाधिकारी माहतिम यादव, उपजिलाधिकारी सदर सीमा विश्वकर्मा, भनोली मोनिका, मुख्य कृषि अधिकारी प्रियंका सिंह, जिला विकास अधिकारी के0के0 पंत, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सविता हयांकी, महाप्रबन्धक उद्योग डा0 दीपक मुरारी सहित जनपद स्तरीय अधिकारी व समस्त खण्ड विकास अधिकारी उपस्थित थे।
——————————————————

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.