गृह मंत्रालय ही सुरक्षित नहीं तो कैसे रहेगा प्रदेश सुरक्षितः मोर्चा

0
32

मुख्यमंत्री के मंत्रालय में चोरी मामले में अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं    

विकासनगर:  जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि दो-4 दिन पहले गृह अनुभाग-3 से फाइलें चोरी होने के मामले में सरकार को पहले विभाग के अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करनी चाहिए ।

बाद में कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज, कहीं ऐसा न हो कि अधिकारियों ने किसी षड़îंत्र के तहत उक्त फाइलों  को गायब कर दिया हो। नेगी ने कहा कि गृह मंत्रालय मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के पास है, जब उनका विभाग ही सुरक्षित नहीं है तो प्रदेश कैसे सुरक्षित रह सकता है।

नेगी ने हैरानी जताई कि सचिवालय जैसे सुरक्षित कार्यालय में जहां पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता रहती है, वहां से भी फाइल गायब होना, सरकार की बहुत बड़ी नाकामी है।

मोर्चा द्वारा पूर्व में डाकपत्थर बैराज की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने के मामले में मुख्य सचिव से कार्रवाई की मांग की थी, जिसको मुख्य सचिव द्वारा कार्रवाई हेतु गृह विभाग को भेजा गया था, लेकिन उस फाइल का गृह विभाग में कोई अता-पता  नही है यानि कि उक्त अनुभाग लापरवाही का अड्डा बना हुआ है।

मोर्चा सरकार से मांग करता है की साजिशध् चोरी के मामले में अधिकारियों के खिलाफ भी कठोर कार्रवाई करें। पत्रकार वार्ता में अमित जैन, सुशील भारद्वाज आदि उपस्थित रहे।

सोशल ग्रुप्स में समाचार प्राप्त करने के लिए निम्न समूहों को ज्वाइन करे.